IS आतंकियों को इराकी PM की चेतावनी, जिंदा रहना हो तो डाल दो हथियार

IS आतंकियों को इराकी PM की चेतावनी, जिंदा रहना हो तो डाल दो हथियार

बगदाद

मोसुल पर छिड़ी लड़ाई समय के साथ-साथ और भीषण होती जा रही है. इस बीच इराक के प्रधामंत्री हैदर अल अबादी ने आईएस को चेतावनी दी है कि यदि जिंदा रहना चाहते हो तो हथियार डाल कर आत्मसमर्पण कर दें, नहीं तो मौत के लिए तैयार रहें.

फ्रंट लाइन पर जवानों की हौसला अफजाई को पहुंचे अबादी ने कहा है कि अब जंग कुछ ही दिन और चलेगी, जल्द ही यहां पर जीत का जश्न मनाया जाएगा. इस बीच एक ओर जहां इराकी सेना अमेरिकी नेतृत्व वाली गठबंधन सेना के साथ मिलकर मोसुल में अंदर दाखिल हो चुकी है और एक-एक कर गांवों को आजाद करवा रही है, वहीं दूसरी ओर पीछे हटते आईएस के आतंकियों ने सेना को चुनौती देने के लिए अपने आत्मघाती दस्तों को मोर्चे पर उतारा है.

फिलहाल मोसुल एयरपोर्ट के नजदीक आईएस के आतंकियों और इराकी फौज के बीच घमासान जोरों पर है. मोसुल में कई जगहों पर आईएस आतंकियों द्वारा बनाई गई सुरंगों का भी पता चल है. किसी समय इन सुरंगों को आतंकियों ने अपने सुरक्षित ठिकानों की तरह उपयोग किया होगा. इन सुरंगों में खाने-पीने के सामान के अलावा मनोरंजन और दूसरे इंतजाम भी किए गए हैं.

आईएस आतंकियों ने जिन आत्मघाती हमलावर दस्तों को तैयार किया है उनमें कई बच्चे भी बताए जा रहे हैं. इस बीच आईएस के प्रमुख अबु अल बुकर बगदादी के मोसुल छोड़कर सीरिया की तरफ भागे जाने की खबर आ रही है.

हालांकि इस बात की पुष्टि अभी किसी ने भी नहीं की है. इराक के प्रधानमंत्री हैदर अल अबादी का कहना है कि कुछ दिन में यह लड़ाई खत्म हो जाएगी और मोसुल को आतंकियों के चंगुल से आजाद करवा लिया जाएगा.

मोसुल में आतंकियों पर आखिरी वार करने के समय भी उन्होंने इसी तरह का बयान दिया था. टीवी पर प्रसारित अपने संदेश में उन्होंने कहा था कि अब जल्द ही मोसुल में जीत का जश्न मनाने के लिए मिलेंगे। इसी दौरान उन्होंने मोसुल में लड़ाई का ऐलान किया था. इराकी फौज लगातार आगे बढ़ रही है वहीं आईएस के आतंकी शहर के दक्षिणी हिस्से में सिमटने को मजबूर हो गए हैं.

संभावित हार को देखते हुए आईएस ने भी अबतक का सबसे बड़ा हमला बोला है. टेलिग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक 17 अक्टूबर के बाद से तेज हुई मोसुल की लड़ाई में अबतक 100 से अधिक आत्मघाती हमलावर इराकी बलों को नुकसान पहुंचाने के चक्कर में खुद को उड़ा चुके हैं. आईएस की तरफ से ऐसा आत्मघाती हमला अबतक नहीं देखा गया था.

आत्मघाती हमलावरों के इस्तेमाल की घटनाओं पर नजर रखने वाले एक सीनियर फेलो और ICSR के थिंक टैंक चार्ली विंटर भी इसे ‘अभूतपूर्व’ मान रहे हैं. रिपोर्ट के मुताबिक इराकी सैनिकों ने आईएस लड़ाकों से जब्त एक जीप दिखाई है.

आईएस के इंजिनियरों ने इस जीप को बख्तरबंद बना दिया है. विस्फोटकों से लैस इस जीव में केवल आत्मघाती हमलावर बने ड्राइवर के विंडस्क्रीन का थोड़ा हिस्सा खुला है, जिससे वह अपने टारगेट पर निशाना साध सके.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment