पूर्व CM धूमल ने कहा- OROP पर घडि़याली आंसू बहा रहे हैं कांग्रेसी

पूर्व CM धूमल ने कहा- OROP पर घडि़याली आंसू बहा रहे हैं कांग्रेसी

शिमला

पूर्व मुख्यमंत्री एवं नेता प्रतिपक्ष प्रो प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि वन रैंक वन पेंशन के मसले पर कांग्रेस पार्टी विशेषकर राहुल गांधी घड़ियाली आंसू बहा रहे हैं. उन्होंने कहा कि OROP पर देश को झूठ बोलकर गुमराह करने वाले राहुल गांधी पहले यह बताए कि 10 वर्षों तक सत्ता में रहने के दौरान उन्होंने पूर्व सैनिकों और उनकी 40 वर्षों से चली रही मांग को पूरा करने के लिए क्या किया था.

एक पूर्व सैनिक की आत्महत्या पर उन्हें राजनीतिक रोटियां सेंकने के बजाए इस मुद्दे पर उन्हें संवेदनशीलता का परिचय देना चाहिए. प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि सांसद के तौर पर पहली बार उन्होंने वर्ष 1990 में इस मुद्दे को संसद में उठाया था.

तब से लेकर कांग्रेस पार्टी और उनके नेताओं ने पूर्व सैनिकों को केवल झूठे वादों से गुमराह किया है. 2013 में जब इस मांग ने जोर पकड़ा तो OROP को पूरो करने के नाम पर मात्र 500 करोड़ का आबंटन का ढोंग करके पूर्व सैनिकों की भावनाओं से खिलवाड़ करने का काम कांग्रेस ने किया था.

पूर्व यूपीए सरकार के दौरान मनमोहन सिंह नाममात्र के प्रधानमंत्री थे. सत्ता की असली चाबी राहुल और सोनिया गांधी के पास थी. उनके ईशारे के बिना सरकार में एक पत्ता भी नहीं हिलता था.

हालात यहां तक थे कि सरकार द्वारा पारित अध्यादेश की प्रतियां राहुल गांधी द्वारा फाड़े जाने पर प्रधानमंत्री बेबसी में खून के आंसू पीने के लिए मजबूर थे. ऐसे सुनहरे दिनों में राहुल गांधी देश के 20 लाख पूर्व सैनिकों की OROP की मांग को पूरा करने के लिए कुछ नहीं कर पाए तो अब झूठी राजनीति करके क्या हासिल होगा.

उन्होंने पूर्व सैनिकों से आग्रह करते हुए कहा कि उन्हें कांग्रेसी नाम के फसली बटेरों से सावधान रहना चाहिए. कांग्रेस ने पहले भी उन्हें अपने झूठ से धोखा दिया है. अब भी गुमराह करने की कोशिशें की जा रही हैं.

यह केवल मोदी सरकार ही है, जिसने सत्ता में आते ही केवल OROP की मांग को पूरा किया, बल्कि पहली किस्त के रूप में 5500 करोड़ को जारी कर दिया है. पूर्व सैनिकों सहित देश की जनता के समक्ष कांग्रेस पार्टी अब पूरी तरह से बेनकाब हो चुकी है. सैनिकों के सम्मान और स्वाभिमान पर प्रश्नचिन्ह खड़ी करने वाली कांग्रेस को इस तरह की राजनीति से बाज आना चाहिए.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment