कश्मीर घाटी में सक्रिय हुए 300 आतंकी, बड़ी साजिश होने की आशंका

कश्मीर घाटी में सक्रिय हुए 300 आतंकी, बड़ी साजिश होने की आशंका

श्रीनगर

जम्मू-कश्मीर के DGP के. राजेंद्र ने राज्य के हालात बेहद नाजुक बताते हुए कहा है कि घाटी में अब भी 300 आतंकी एक्टिव हैं. राजेंद्र ने साफ किया कि लाइन ऑफ कंट्रोल से घुसपैठ की घटनाएं जारी हैं और इसकी वजह से हमारी चिंता बढ़ जाती है.

श्रीनगर में शनिवार शाम टॉप सिविल और पुलिस अफसरों की मीटिंग हुई। मीटिंग में चीफ मिनिस्टर महबूबा मुफ्ती भी मौजूद थीं. राज्य के हालात की जानकारी देते हुए DGP ने कहा- LOC से जारी घुसपैठ फिक्र की सबसे बड़ी वजह है क्योंकि इसकी वजह से हालात बिगड़ रहे हैं.

राजेंद्र ने कहा- इसमें कोई दो राय नहीं कि पिछले दिनों की तुलना में हालात काफी हद तक सामान्य हुए हैं लेकिन इसके बावजूद ये बेहद नाजुक ही हैं. आज भी 250 से 300 आतंकी एक्टिव हैं. हमें अगले दो तीन महीने का रोड मैप बनाकर काम करना होगा.

मीटिंग में राजेंद्र ने कहा कि घाटी में तनाव के बाद से अब तक करीब 70 बिल्डिंग्स में आग लगाई गई है. इनमें से 53 पूरी तरह तबाह हो गई हैं. बता दें कि घाटी में हिज्बुल आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद हालात बिगड़े. करीब 80 लोगों की मौत हुई. 100 दिन से ज्यादा कश्मीर के कई हिस्सों में कर्फ्यू लगाया गया.

बुरहान साउथ कश्मीर के त्राल का रहने वाला और सोशल मीडिया पर बहुत एक्टिव था. उसने यहां के कई पढ़े-लिखे लड़कों को बरगला कर आतंकी बनाया था. कश्मीरी यूथ को रिक्रूट करने के लिए वह फेसबुक-वॉट्सऐप पर वीडियो और फोटो पोस्ट करता था. इनमें वो हथियारों के साथ सिक्युरिटी फोर्सेस का मजाक उड़ाते हुए नजर आता था.

बुरहान वानी के एक भाई की मौत 2010 में सिक्युरिटी फोर्सेस की गोली से हो गई थी. कहा जाता है कि इसके बाद उसने हथियार उठाने का फैसला किया. वानी ने अक्टबूर 2010 में घर छोड़ दिया और 15 साल की उम्र में आतंकी बन गया. बुरहान की इन्फॉर्मेशन देने वाले को 10 लाख का इनाम देने का एलान किया गया था.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment