rrrr

सील लग चुके ठेके के बाहर कार में बेची जा रही थी शराब, पूर्व फौजी की बोतल के रेट को लेकर कर दी हत्या

मोगा

शराब ठेका सील होने के बाद गाड़ी में शराब बेच रहे ठेकेदार के कारिंदों ने रेट को लेकर हुई बहस में पूर्व फौजी को मार डाला, 5 लोग सरेआम डंडों और बेस बॉल बैट से उसे पीटते रहे, जब तक उसे अस्पताल पहुंचाते, वह दम तोड़ चुका था.
सूबे में शराब माफिया द्वारा एक महीने में यह चौथा कत्ल है पुलिस ने शिअद के करीबी शराब ठेकेदार समेत 5 लोगों पर केस दर्ज किया है टैक्स जमा करवाने पर सरकार ने गांव चीदा के ठेके को सील कर दिया था, इसके बावजूद ठेकेदार के कारिंदे वीरवार रात को बोलेरो कैंपर गाड़ी में शराब बेच रहे थे.
पूर्व फौजी बेअंत सिंह (34) उनसे शराब लेने पहुंच गया, पुलिस ने जसवंत सिंह के बयान पर जगदीश, जीत सिंह, सेल्समैन सतराम, ठेकेदार हरजिंदर सिंह और अकाली दल के करीबी ठेकेदार सन्नी गिल के खिलाफ साजिश के तहत कत्ल का केस दर्ज कर लिया है। सन्नी फास्ट वे केबल के कारोबार से भी जुड़ा है.

एक्साइज एंड टैक्सेशन विभाग के एटीसी जोगिंदर सिंगला का कहना है कि गाड़ियों में इस तरह शराब नहीं बेची जा सकती ऐसा करते पकड़े जाने पर कार्रवाई की जाएगी जिले में सभी 160 शराब के ठेके सील कर दिए हैं, जल्द ही इन ठेकों के लाइसेंस रद्द किए जाएंगे.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment