जापान और फ्रांस की तर्ज पर रोहतक में बनेगा देश का पहला रेलवे एलिवेटेड ट्रैक

जापान और फ्रांस की तर्ज पर रोहतक में बनेगा देश का पहला रेलवे एलिवेटेड ट्रैक

रोहतक

रोहतक-गोहाना रेलवे लाइन पर देश के पहले एलिवेटेड रेल लाइन के निर्माण पर 315 करोड़ रुपए की लागत आएगी, इससे रोहतक शहर में भीड़-भाड़ से निजात दिलाने में मदद मिलेगी यह रिहायशी कॉलोनियों को जोड़ने वाले 5 व्यस्त लेवल क्रॉसिंग को हटाकर सड़कों पर चलने वाले लोगों को सुरक्षा मुहैया कराएगा.

यह भारतीय रेलवे का प्रथम एलिवेटेड रेल ट्रैक है, जिसे अत्यंत घनी आबादी वाले शहरी क्षेत्रों में सड़कों पर यातायात को सुगम बनाने के लिए निर्मित किया जा रहा है रोहतक में सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर ने इसका शिलान्यास किया, जबकि रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने टेलीकास्ट के माध्यम से मुंबई से शिलान्यास किया.

315 करोड़ रुपए की कुल लागत में से 90 करोड़ रुपए रेलवे व्यय करेगी, जबकि शेष धनराशि हरियाणा सरकार उपलब्ध कराएगी, जापान, फ्रांस और जर्मनी जैसे देशों ने त्वरित गति की रेलों के लिए एलिवेटेड गलियारों का निर्माण किया है, चार किलोमीटर लंबे एलिवेटेड ट्रैक को रेलवे की जमीन पर सड़क के निर्माण के लिए 12 मीटर चौड़ी पट्टी छोड़ने के बाद बनाया जाएगा.

एक बार इसके संचालन में आने के बाद वर्तमान ट्रैक का उपयोग नहीं किया जाएगा इस परियोजना को 2018 तक पूरा किया जाएगा, जब बुलेट रेल परियोजना पर वास्तविक रूप से कार्य का शुभारंभ होगा, सर्वेक्षण, भू-तकनीकी जांच और डिजाइन एवं ड्राइंग आदि के रूप में प्रारंभिक कार्य के लिए निविदा दे दी गई है और कार्य शुरू हो गया है.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment