दिवाली की आतिशबाजी से दिल्ली की हवा में घुला जहर, 42 गुना तक बढ़ा प्रदूषण का स्तर

दिल्ली

देश के साथ-साथ दिल्ली-एनसीआर में भी धूमधाम से दीपावली मनाई गई. पूर्व की तरह इस बार भी दिल्ली में जमकर पटाखे फोड़े गए. दिल्ली एनसीआर में कुछ ज्यादा ही आतिशबाजी हुई है. दिल्ली में प्रदूषण का स्तर सामान्य स्तर से 42 गुना तक बढ़ा हुआ रिकॉर्ड किया गया.

दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के एक आंकड़े के मुताबिक दक्षिण दिल्ली के आरके पुरम इलाके में प्रदूषित पीएम (पर्टिकुलर मैटर्स) 10 की मात्रा 42 गुना अधिक दर्ज की गई. बढे हुए प्रदुषण की वजह से लोगों का सांस लेना दुश्वार हो गया है. वहीं, आज सुबह से पूरे एनसीआर में धूल का गुबार छाया हुआ है.

दिल्ली में प्रदूषण के स्तर के खतरनाक होने की स्थिति में ये सेहत के लिए बेहद की खतरनाक है. वहीं आज सुबह घर से मॉर्निंग वॉक के लिए निकले लोगों को सांस लेने में परेशानी देखी गई.

देश की राजधानी दिल्ली और उसके आसपास के इलाकों में हुई खूब आतिशबाजी के चलते धूल-धुएं का गुबार आसमान में छाया हुआ है. पटाखों की धुंध में लिपटी दिल्ली के कई इलाकों में विजिबिलिटी जीरों रही.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment