जॉनसन एंड जॉनसन प्रॉडक्ट के प्रयोग से महिला को कैंसर, कंपनी देगी 467 करोड़ रुपए हर्जाना

जॉनसन एंड जॉनसन प्रॉडक्ट के प्रयोग से महिला को कैंसर, कंपनी देगी 467 करोड़ रुपए हर्जाना

दिल्ली

बेबी प्रॉडक्ट्स बनाने वाली कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन पर पिछले नौ महीने में 3 बार केस हारने की वजह से जुर्माना लगाया गया है. अमेरिका की एक अदालत ने गुरुवार को कैलिफोर्निया की एक महिला को हर्जाने के तौर पर 70 मिलियन डॉलर यानी लगभग 467 करोड़ रुपये देने को कहा है. डेबोराह गिआनेचिनी नाम की महिला ने अपनी याचिका में जॉनसन एंड जॉनसन प्रोडक्ट बेबी पाउडर के इस्तेमाल से कैंसर होने की शिकायत की थी.

इसी साल फरवरी महीने में अमेरिका के मिसूरी राज्य की एक अदालत ने एक परिवार को 72 मिलियन डॉलर यानी करीब 494 करोड़ रुपए का जुर्माना देने का आदेश दिया है. कोर्ट ने ये आदेश तब दिया है जब इस कंपनी के प्रॉडक्ट इस्तेमाल करने और एक महिला को कैंसर होने के बीच कुछ ‘संबंध’ पाए. हालांकि, सुनवाई के दौरान कंपनी का कहना था कि उसके प्रॉडक्ट पूरी तरह से सेफ हैं.

इसके अलावा अमेरिका में 62 वर्ष की महिला ग्लोरिया ने दावा किया कि वह हाइजीन के तौर पर जॉनसन के दो उत्पाद बेबी पाउडर और शॉवर टू शॉवर का इस्तेमाल करती थी, जिससे ऑवेरियन कैंसर हुआ. ग्लोरिया के वकील ने दावा किया कि कंपनी को 1970 से ही पता था कि पाउडर का प्रयोग सेहत के लिए नुकसानदेह है.

इस वर्ष दो मई को कोर्ट ने ग्लोरिया के दावे को सही मानते हुए 365 करोड़ रुपए का जुर्माना किया है. आपको बता दें कि करीब 2000 महिलाओं के अमेरिका के विभिन्न कोर्ट में जॉनसन एंड जॉनसन के खिलाफ मुकदमा दायर कर रखा है.

26 सितंबर को कोर्ट ने कैलिफोर्निया की डेबोराह गिआनेचिनी की याचिका पर सुनवाई शुरू की थी. गिआनेचिनी का 2012 से ऑवेरियन कैंसर का इलाज चल रहा है. महिला जॉनसन एंड जॉनसन बेबी पाउडर और शॉवर टू शॉवर का इस्तेमाल कई वर्षों से करती आ रही थी.

कोर्ट ने कहा कि ऐसा लग रहा है कि कंपनी को ग्राहकों की बिल्कुल भी परवाह नहीं है. वह भविष्य में चेतावनी लेवल के साथ प्रॉडक्ट बाजार में लाए. ताकि कस्टमर्स तय कर सके कि उसे यह प्रॉडक्ट लेना है या नहीं.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment