पाक जासूसी कांड में सपा के राज्यसभा सांसद का पीए गिरफ्तार

पाक जासूसी कांड में सपा के राज्यसभा सांसद का पीए गिरफ्तार

दिल्ली

दिल्ली पुलिस ने जासूसी मामले में समाजवादी पार्टी के एक राज्यसभा सदस्य के निजी सहायक फ़रहत को हिरासत में लिया है. इससे पहले इस मामले में पाकिस्तानी उच्चायोग के एक कर्मी को देश से निष्कासित किया जा चुका है और तीन अन्य को गिरफ्तार किया गया है.

अपराध शाखा के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सपा के राज्यसभा सदस्य मुनव्वर सलीम के पीए फरहत को बीती रात हिरासत में लिया गया और उससे पूछताछ की जा रही है. दिल्ली पुलिस इस मामले से जुड़े उन अन्य लोगों को भी पकड़ने की कोशिश कर रही है, जिनके बारे में उसका मानना है कि वे लोग पाकिस्तान उच्चायोग के कर्मी महमूद अख्तर के करीबी संपर्क में थे. अख्तर को 26 अक्तूबर को गोपनीय दस्तावेज लेते हुए पकड़ा गया था.

अख्तर के साथ दो अन्य व्यक्ति मौलाना रमजान और सुभाष जांगीड़ भी थे, जो राजस्थान के नागौर के रहने वाले हैं. एक अन्य आरोपी शोऐब को जोधपुर में हिरासत में लिया गया. पुलिस उसे दिल्ली लेकर आई, जहां उसे गिरफ्तार किया गया.

पुलिस ने खुफिया जानकारी के आधार पर बुधवार को दिल्ली चिड़ियाघर के पास पाकिस्तान उच्चायोग के अधिकारी अख्तर को दो भारतीयों से साथ गिरफ्तार किया था, जिनकी पहचान मौलाना रमजान और सुभाष जांगीर के रूप में हुई, जबकि वीजा एजेंट शोएब चकमा देकर भागने में सफल हो गया था. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि शोएब को गुरुवार की शाम जोधपुर के निकट हिरासत में लिया गया और बाद में यहां लाने के बाद उसे गिरफ्तार किया गया.

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई ने अख्तर को तीन साल पहले नियुक्त किया था और फिर बाद में दिल्ली स्थित पाकिस्तानी उच्चायोग भेज दिया. वह यहां वीजा विभाग में काम करता था, ताकि उसे ऐसे लोग मिल सके, जिससे वह जासूसी करा सके.

दिल्ली पुलिस ने बताया कि ये लोग हर महीने पहले से तय जगह पर अख्तर से मिलते थे और उसे गोपनीय दस्तावेज सौंपा करते थे. इन सूचनाओं के बदले अख्तर उन्हें 50,000 रुपये तक का भारी रकम दिया करता था. उन्होंने बताया कि इस बार वे लोग दिल्ली के चिड़ियाघर के पास मिले, जहां से उन्हें हिरासत में लिया गया. उनके पास से सीमा पर बीएसएफ और सेना की तैनाती नक्शों से जुड़े दस्तावेज थे.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment