केंद्र ने दी मंजूरी, मंडी में खुलेगा प्रदेश का पहला क्लस्टर विश्वविद्यालय

शिमला

हिमाचल के मंडी में प्रदेश का पहला क्लस्टर विश्वविद्यालय स्थापित होगा. केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय ने प्रदेश सरकार के प्रस्ताव व डीपीआर को मंजूरी दे दी है. इसके लिए कुल 55 करोड़ रुपये मिलेंगे.

मंगलवार को पहली किस्त के रूप में 24 करोड़ रुपये जारी कर दिए गए हैं. क्लस्टर विश्वविद्यालय में डिग्री कॉलेज मंडी, सुंदरनगर, द्रंग और बासा को शामिल किया गया है. मंडी जिले के अन्य कॉलेजों के अलावा बिलासपुर और कुल्लू जिला के कॉलेजों को जल्द क्लस्टर में शामिल किया जा सकता है.

24 करोड़ का बजट भवन निर्माण, मूलभूत सुविधाओं और उपकरणों की खरीद पर खर्च किया जाएगा. इसमें केंद्र और हिमाचल का शेयर 90:10 अनुपात में रहेगा. पहली किस्त के रूप में प्रदेश सरकार ढाई करोड़ रुपये जारी करेगी.

हिमाचल विश्वविद्यालय के बोझ को कम करने और गुणवत्तापूर्ण उच्च शिक्षा देने के लिए केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान में क्लस्टर विश्वविद्यालय खोलने को मंजूरी दी है. रूसा गाइड लाइन के मुताबिक एक विश्वविद्यालय के तहत 100 से अधिक कॉलेज नहीं होने चाहिए.

उच्च शिक्षा निदेशक दिनकर बुराथोकी ने कहा कि 2014 में मंडी में क्लस्टर विवि खोलने का प्रस्ताव केंद्र को भेजा था. लंबे प्रयासों के बाद सूबे को पहला क्लस्टर विवि मिला है.

Share With:
Rate This Article