शहीद BSF जवान सुशील कुमार का कुरुक्षेत्र में हुआ अंतिम संस्कार

शहीद BSF जवान सुशील कुमार का कुरुक्षेत्र में हुआ अंतिम संस्कार

कुरुक्षेत्र

शहीद BSF के जवान सुशील कुमार का आज कुरुक्षेत्र में अंतिम संस्कार हुआ. सुशील को भारत माता के लिए कुछ कर गुजरने की तमन्ना हमेशा से दिल में रही यही कारण है की सुशील कुमार 1992 में बीएसएफ में देश की सेवा के सपने के साथ शामिल हुए थे.

जब पाकिस्तानी रेंजर्स अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर 25 बॉर्डर पोस्टों पर सीजफायर तोड़ते हुए भारी गोलाबारी की. तब सुशील ने उनको मुंहतोड़ जवाब दिया और फायरिंग की लेकिन पाकिस्तान की फायरिंग में कांस्टेबल सुशील शहीद हो गए.

शहीद BSF जवान सुशील कुमार का कुरुक्षेत्र में हुआ अंतिम संस्कार

शहीद BSF जवान सुशील कुमार का कुरुक्षेत्र में हुआ अंतिम संस्कार

सुशील कुमार ने आपने आखरी शब्द कुछ इस तरह कहे थे, माँ वहां आप सब दिवाली बना रही हैं यहाँ हम बंदूक की गोली के बीच दीवाली मना रहे हैं. लेकिन उस वक्त शायद उनकी माँ को अंदाजा नही होगा की उनकी यह बात शायद आखरी बार हो रही है.

आज सुशील कुमार की विदाई गाँव के लोगो ने बड़े नम आंखो से की. अंतिम संस्कार के दौरान सेना के जवानों ने भी अपने इस बहादुर साथी को अलविदा कहा.

जम्मू एवं कश्मीर में अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तानी गोलाबारी में सीमा सुरक्षा बल के एक जवान एवं एक 8 साल के बच्चे की मौत हो गई. इसमें नौ अन्य लोग घायल हो गए.

इस गोलाबारी से 50 गांवों को नुकसान पहुंचा है. अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी. BSF ने जवाबी कार्रवाई करते हुए घंटों गोलाबारी की. यह गोलाबारी जम्मू एवं कश्मीर के जम्मू जिले में 230 किमी लंबी सीमा पर कई स्थानों पर रुक-रुक कर कर रहे थे.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment