32 लाख ग्राहकों के डाटा चोरी, तुरंत बदल दें अपने ATM कार्ड का PIN

दिल्ली

ATM कार्ड से संबंधित सूचना चोरी होने की खबर से परेशान ग्राहकों को बैंकों ने एक सलाह दी है कि वे अपने कार्ड का पिन नंबर तुरंत बदल दें. वहीं भारतीय स्टेट बैंक अपने 6 लाख कार्ड धारकों के एटीएम कार्ड को ब्‍लॉक कर इन्‍हें बदलने की प्रक्रिया शुरु कर दी है.

इसकी वजह ग्राहकों से संबंधित सूचना लीक होना है. उधर, वित्त मंत्रालय ने साइबर अपराधियों की तरफ से हुए इस हमले और इससे लाखों भारतीय बैंक ग्राहकों से जुड़ी सूचना के चोरी होने पर बैंकों से जानकारी मांगी है.

यह घटना एक माह पुरानी है लेकिन समाचार पत्रों में खबर प्रकाशित होने के बाद बैंकों से खोज बीन की है. SBI का कहना है कि कार्ड नेटवर्क चलाने वाली कंपनियों एनपीसीआई, वीसा और मास्टरकार्ड ने कुछ भारतीय बैंकों को सूचना दी है कि उनके कुछ डेबिट कार्ड की सूचनाओं की चोरी की गई है.

इसके बाद एहतियातन कदम उठाते हुए 6 लाख एटीएम कार्ड धारकों के एटीएम कार्ड को बदलने की प्रक्रिया शुरु कर दी है. SBI के मुताबिक उसके सुरक्षा इतंजाम पूरी तरह से पुख्ता हैं और आज तक इसे कोई भी भेद नहीं पाया है.

अभी जो घटना हुई है उससे तमाम बैंक प्रभावित हुए हैं सिर्फ SBI ही नहीं हुआ है. बैंक ऑफ बड़ौदा, आईडीबीआई, सेंट्रल बैंक समेत कई अन्य सरकारी बैंकों ने भी अपने कुछ ग्राहकों के कार्ड को बदलने की प्रक्रिया शुरु की है या उसे पूरी कर चुके हैं.

निजी क्षेत्र के आईसीआईसीआई और एचडीएफसी की तरफ से भी यह सूचना दी गई है कि उन्हें भारतीय बैंकों को निशाना बना कर किये गये साइबर हमले के बारे में सूचना मिली है. यह सूचना भारत के निजी बैंक येस बैंक के एटीएम से जुड़ी हुई है.

जिन बैंक ग्राहकों ने येस बैंक के एटीएम को साझा किया है उन्हें अपने डेबिट कार्ड का पिन नंबर बदलने का सुझाव दिया गया है. एचडीएफसी बैंक ने दूसरे बैंकों के एटीएम से रकम निकालने वाले अपने सभी ग्राहकों को सुझाव दिया है कि वे जल्द से जल्द अपने कार्ड के पिन नंबर को बदले ले और सिर्फ एचडीएफसी बैंक के एटीएम का इस्तेमाल करे.

आईसीआईसीआई बैंक ने भी अपने कुछ ग्राहकों को पिन नंबर बदलने की सूचना दे चुका है. बैंक ने ग्राहकों को सुझाव दिया है कि वे एक निश्चित अंतराल पर पिन नंबर बदलते रहें. ऐक्‍सेस बैंक, एचडीएफसी बैंक, येस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा बैंक,
आईडीबीआई बैंक, सेंट्रल बैंक.

Share With:
Rate This Article