कांग्रेस का दामन छोड़ बीजेपी में शामिल हुईं रीता बहुगुणा जोशी

कांग्रेस का दामन छोड़ बीजेपी में शामिल हुईं रीता बहुगुणा जोशी

लखनऊ

कई दशकों से कांग्रेस के लिए जी जान से काम करने वाली कांग्रेस की नेता रीता बहुगुणा जोशी आज भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गईं. रीता बहुगुणा जोशी को गांधी परिवार, खासतौर पर सोनिया गांधी का करीबी समझा जाता रहा है.

बीजेपी में औपचारिक रूप से आने की घोषणा करते समय रीता के साथ बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी मौजूद थे. रीता ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आतंकवाद से लड़ने का बीड़ा उठाया है.

कांग्रेस पार्टी सरकार और सेना का साथ देने के बजाय आलोचना करने लगी. ऐसा लगता है कि लोकसभा चुनाव के बाद भी कांग्रेस पार्टी ने सबक नहीं लिया. इस अवसर पर रीता बहुगुणा ने कहा, मैं आज ही कांग्रेस से इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हुई हूं.

लंबे विचार के बाद मैंने यह फैसला किया है. करीब 24 वर्ष मैंने कांग्रेस में गुजारे, बीच में कुछ समय जरूर एसपी में रही. बीजेपी में आने का फैसला मैंने काफी सोच-समझकर लिया है. मेरे लिए यह फैसला आसान नहीं था.

उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक को देश की सेना के साथ-साथ सरकार की भी उपलब्धि बताया. रीता ने कहा कि जब कांग्रेस पार्टी ही सर्जिकल स्ट्राइक को स्वीकार नहीं करते हुए प्रमाण मांग रही है, ऐसे में देश की प्रतिष्ठा विदेशों में प्रभावित हुई है.

उन्होंने आगे कहा कि जब तक कांग्रेस की कमान सोनिया गांधी के पास थी, जब तक सब ठीक था. राहुल गांधी के हाथ में कमान आने के बाद पार्टी आगे नहीं बढ़ पा रही है.

इस खबर पर प्रतिक्रिया देते हुए यूपी कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा कि पार्टी का एक ध्येय है दगाबाज फौज इकट्ठा करना. रीता बहुगुणा जोशी का सवाल है वह इतिहास की प्राध्यापक रही हैं, उन्हें इतिहास का ज्ञान है.

उल्लेखनीय है कि रीता बहुगुणा जोशी यूपी कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष रह चुकी हैं. इतना ही नहीं कांग्रेस पार्टी में महिला कांग्रेस की भी रीता बहुगुणा जोशी अध्यक्ष रह चुकी हैं. हालांकि कांग्रेस ने अभी इस बारे में साफ तौर पर कुछ नहीं कहा है.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment