पांच फीसद बढ़ा देवी-देवताओं का नजराना- मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह

पांच फीसदी बढ़ा देवी-देवताओं का नजराना- मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह

कुल्लू

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने देवी-देवताओं के नजराने में पांच फीसदी की बढ़ोतरी की है. इसके साथ स्थानीय देवी-देवाताओं के साथ शामिल होने वाले बजंतरियों को भी 10 हजार रुपये दिए जाएंगे.

यह राशि बजंतियों के हाथ में सौंपी जाएगी जिसे बजंतरी आपस में बांटेंगे. उत्सव में स्थानीय देवी-देवताओं के साथ दूरदराज से आने वाले लोगों को प्रदेश सरकार सहायता उपलब्ध करवाने पर भी विचार करेगी. मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह सोमवार को अंतरराष्ट्रीय दशहरा उत्सव के समापन मौके पर कलाकेंद्र में संबोधित कर रहे थे.

उन्होंने कहा कि कुछ लोग चाहते हैं कि कुल्लू दशहरा उत्सव सफलतापूर्वक न हो सके और इसके लिए षड्यंत्र रचे जा रहे हैं. क्षेत्रीय तथा धार्मिक परंपराओं व उत्सवों में राजनीति नहीं की जानी चाहिए.

किसी को ऐसा भी नहीं सोचना चाहिए कि वह मंदिरों का मालिक है. प्राचीन मंदिर किसी की भी निजी संपत्ति नहीं हैं और वे केवल ऐसे मंदिरों के न्यासी व देखभालकर्ता ही हो सकते हैं. कुल्लू स्थित रघुनाथ मंदिर भी किसी की निजी संपत्ति नहीं है.

वीरभद्र सिंह ने कहा कि सरकार रघुनाथ मंदिर का स्वामी नहीं बनना चाहती, लेकिन मंदिर की सही देखरेख व वित्त पोषण चाहती है. कुल्लू में रामशिला के समीप एक मंदिर की ओर इशारा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि नियमों को ताक पर रखकर जंगलों में भी मंदिर बना दिए गए.

सरकार उन मंदिरों का अधिग्रहण करती है जिनमें व्यवस्था चरमरा गई हो या मंदिर में ताले लटकने की नौबत आ गई है. परिवार की आपसी लड़ाई के कारण मंदिर में कार्य प्रभावित हो रहा हो.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment