पीएम मोदी से मिलने की परमिशन नहीं मिली, शहीद की पत्नी ने लौटाया सेना मेडल

लुधियाना

29 साल पहले श्रीलंका में शहीद हुए गुरदासपुर के शहीद कश्मीर सिंह की पत्नी सुरिंदर कौर को मंगलवार को पीएयू आ रहे पीएम नरेंद्र मोदी से मिलने की परमिशन नहीं मिली तो यह कहते हुए उन्होंने डीसी ऑफिस में असिस्टेंट कमिश्नर स्वाति कुंदन को पति की शहादत के बदले मिला सैन्य मेडल लौटा दिया.

बेटे रूप तेजिंदर सिंह और बेटी सुखविंदर कौर के साथ पति की तस्वीर लिए पहुंची 60 साल की सुरिंदर कौर ने कहा, वो तो मेडल मोदी को लौटाना चाहती थीं, ताकि उन्हें भी पता चले कि देश के लिए शहीद होने वाले फौजियों के परिवारों पर क्या बीत रही है.

उन्होंने कहा, मैं पीएम से नहीं मिल सकती तो फिर डीसी मेरा मेडल उन्हें लौटा दें फिर भी सुनवाई न हुई तो वो राष्ट्रपति को मिलकर बताएंगी कि राष्ट्रपति ने तो बहादुरी के बदले मेडल दिया लेकिन आज उनके साथ किस कदर नाइंसाफी हो रही है.

अगर सरकारें शहीद परिवारों से ऐसा व्यवहार करेंगी तो कौन मां अपने बेटे को फौज में भर्ती होने देगी, बेटे रूप तेजिंदर ने बताया, शहीद कश्मीर सिंह को मरणोपरांत 26 जनवरी 1991 को सेना मेडल दिया गया था सरकार ने शहीद परिवार को दस एकड़ जमीन, पेट्रोल पंप या गैस एजेंसी व एक परिवार को सरकारी नौकरी का वायदा किया था.

मगर, उनके शहीद पिता की कमाई से बचे लगभग डेढ़ लाख के अलावा कुछ नहीं मिला जब वो अप्लाई करने गए तो अफसरों ने कहा, केंद्र सरकार की ऐसी कोई योजना नहीं अब आवेदन करने पर फॉर्मेलिटीज के नाम पर तरह-तरह के कागजात मांगे जाते हैं.

Share With:
Rate This Article