घर में ही लगा डाली नकली सिक्के बनाने की मशीन, पुलिस भी देख रह गई हैरान

घर में ही लगा डाली नकली सिक्के बनाने की मशीन, पुलिस भी देख रह गई हैरान

भिवानी

दस रुपए के नकली सिक्कों के कारोबार ने लोगों को परेशानी में डाल दिया है, पिछले दिनों दिल्ली, हरियाणा और बिहार में नकली सिक्कों की चार फैक्ट्रियां पकड़ी गईं इनमें से कुछ फैक्ट्रियां घरों में चलाई जा रही थीं. हरियाणा में ऐसी ही एक फैक्ट्री से अरेस्ट आरोपी ने खुलासा किया कि सिक्कों को बनाने का सामान दिल्ली के मायापुरी से लाया जाता था.
इस मामले में दिल्ली पुलिस राजकुमार से पूछताछ कर रही है, नकली सिक्कों को बनाने के लिए फैक्ट्रियों में जो मशीनें पकड़ में आई हैं, उन्हें मास्टरमाइंड लुथरा ब्रदर्स से पांच-पांच लाख रुपए में खरीदा गया था, सिक्कों को बनाने में काम आने वाली मेटल भी लुथरा ब्रदर्स ही उपलब्ध कराते थे.
कार्रवाई शुरू होने के बाद से ही लुथरा ब्रदर्स देश से फरार हैं, उनके साउथ अफ्रीका में होने का शक है, आरोपी राजकुमार ने दिल्ली पुलिस की पूछताछ में बताया कि सिक्के बनाने के लिए पीतल की चादर नरेश ही उन्हें लाकर देता था, इस चादर को मशीन और डाई की मदद से सिक्कों के आकार में काटा जाता था.

बाद में उस पर नंबर और दूसरे मार्क्स प्रेस किए जाते थे, यह चादर नरेश दिल्ली के मायापुरी से लेकर आता था, लेकिन कितने रुपए और किससे लाता था, इस बारे में कुछ भी पता नहीं है.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment