brics

ब्रिक्स सम्मेलन 2016: पाकिस्तान को अलग-थलग करने की कवायद जारी रखेगा भारत

गोवा

रविवार को ब्रिक्स के वार्षिक शिखर सम्मेलन की मेजबानी के दौरान भारत आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को अलग-थलग करने की कवायद जारी रखेगा. साथ ही पड़ोसी देश के खिलाफ अपना कूटनीतिक हमला तेज करेगा. इसके अलावा, आतंकवाद से निपटने के लिए एक समग्र वैश्विक प्रतिज्ञा के लिए समर्थन जुटाने सहित सहयोग बढ़ाने के भी प्रयास करेगा.

इस पता चला है कि भारत की ओर से आतंकवाद का मुद्दा प्रमुखता से उठाया जाएगा. ब्रिक्स के साझा बयान में भी इसका जिक्र होगा. आतंकवाद के साथ व्यापार, अर्थव्यवस्था और उर्जा के मुद्दों पर बात होगी.

गौरतलब है कि एनएसए स्तर की बातचीत और एंटी टेररिज्म मैकेनिज्म पर पहले से ही यहां काम हो रहा है, ऐसे में माना जा रहा है कि ब्रिक्स सम्मेलन के बाद पाकिस्तान की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं.

क्योंकि, पाकिस्तान लगातार अपनी करतूतों के जरिए बेनकाब हो रहा है. हालांकि, इसकी उम्मीद भी है कि चीन इस मौके का फायदा उठाते हुए पाकिस्तान के पक्ष में कोई दलील दे सकता है. लेकिन, रूस के साथ होने जा रहे करारों के बाद भारत की ताकत बढ़ने वाली है इसी के साथ पाकिस्तान और चीन की चिंताएं भी.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment