हिमाचल के किसानों को सौगात दे सकते हैं पीएम मोदी

हिमाचल के किसानों को सौगात दे सकते हैं पीएम मोदी

मंडी

हिमाचल के हर खेत को सिंचाई के लिए पानी मिलेगा. प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली बार हिमाचल आ रहे नरेंद्र मोदी मंडी में पीएम कृषि सिंचाई योजना (पीएमकेएसवाई) के तहत किसानों को 76 सौ करोड़ की सौगात दे सकते हैं. योजना चार साल के लिए होगी. पीएमकेएसवाई के लिए 76 सौ करोड़ की राज्य सिंचाई योजना मंजूरी के लिए केंद्र को भेजी गई थी.

प्रदेश भाजपा ने पीएम को भेजे मांगपत्र में यह योजना लागू करने का आग्रह किया है. आगामी विधानसभा चुनावों के चलते भाजपा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की परिवर्तन रैली में कई बड़ी योजनाओं की घोषणा करवाने में जुटी है. इसमें पीएमकेएसवाई प्रमुख मानी जा रही है. इसके लिए बाकायदा सर्वे भी करवाया गया है. इसके बाद योजना को शुरू करने की बात सामने आई है.

रैली में प्रदेश के लिए बड़ी घोषणाएं या कई कार्यक्रम शुरू करने के कयास लगाए जा रहे हैं. कृषि विभाग के संयुक्त निदेशक अश्विनी भारद्वाज ने कहा कि पीएमकेएसवाई योजना में हिमाचल ने चार साल के लिए 76 सौ करोड़ का प्लान केंद्र को भेजा है. रैली के प्रभारी एवं सांसद रामस्वरूप शर्मा ने कहा कि प्रदेश भाजपा रैली के दौरान कई योजनाओं के प्रस्ताव प्रधानमंत्री के समक्ष लागू करने को रखेगी.

पीएमकेएसवाई योजना में केंद्र 75 प्रतिशत अनुदान देगा. 25 प्रतिशत खर्च राज्यों के जिम्मे होगा. पूर्वोत्तर और पर्वतीय राज्यों में केंद्र का अनुदान 90 प्रतिशत तक होगा. पीएमकेएसवाई का मुख्य उद्देश्य सिंचाई में निवेश में एकरूपता लाना, हर खेत हो पानी के तहत कृषि योग्य क्षेत्र का विस्तार करने के लिए खेतों में ही जल को इस्तेमाल करने की दक्षता को बढ़ाना है.

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का भी मंडी में शुभारंभ हो सकता था, लेकिन प्रदेश के अधिकतर बीपीएल परिवारों में एलपीजी गैस सिलेंडर होने से योजना प्रधानमंत्री के हाथ से शुरू नहीं की जाएगी. उज्ज्वला के इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन ने सूची बनाने का काम दो माह से शुरू कर दिया है. फिर भी मंडी में मोदी यह योजना शुरू नहीं करेंगे.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment