पीएम मोदी ने ‘शौर्य स्मारक’ का उद्घाटन किया, कहा-सेना बोलती नहीं पराक्रम करती है

भोपाल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को भोपाल में शहीदों के सम्मान में ‘शौर्य स्मारक’ का उद्घाटन किया. इस मौके पर पीएम ने कहा कि सेना बोलती नहीं पराक्रम करती है. पीएम ने कहा कि भारतीय सेना अनुशासन एवं व्यवहार में एक नंबर की सेना है और सवा सौ करोड़ जनता का हौसला सेना की ताकत है. प्रधानमंत्री ने कहा कि भारतीय सेना मानवता की सबसे बड़ी मिसाल है.

शौर्य सम्मान सभा को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा, ‘मेरा सौभग्य है कि इस महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक अवसर पर आप लोगों के बीच आकर इस देश के वीर जवानों को श्रद्धा सुमन अर्पित करने का सौभाग्य और अवसर मिला है. हमारी सेना का सबसे बड़ा अस्त्र उनका मनोबल है. सवा सौ करोड़ जनता का हौसला सेना की ताकत है.’

पीएम ने कहा, ‘जैसे हमारी सेना बोलती नहीं पराक्रम करती है, वैसे ही हमारे रक्षा मंत्री बोलते नहीं.’ इस मौके पर पीएम के साथ रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर भी मौजूद थे. मोदी ने कहा कि सेना का मनोबल उसका सबसे बड़ी ताकत होती है जो अस्त्र से नहीं आती.

पीएम ने कहा कि हमने वन रैंक, वन पेंशन का वादा पूरा किया. इसे हम चार किश्त में पूरी तरह वितरित कर देंगे. हमारे सैनिकों ने कभी OROP के लिए झगड़ा नहीं किया. पहले हवलदार को 4090 रुपये मिलते थे, अब 7600 रुपया मिलता है. तेजी से सैनिकों की समस्याएं सुलझा रहे हैं. रिटायर फौजियों के लिए रोजगार के अवसर पैदा किए. स्किल डेवलेपमेंट सर्टिफिकेट देने की शुरुआत.

Share With:
Rate This Article