JNU में जलाया गया पीएम मोदी का पुतला, NSUI भेजेगा छात्रों को नोटिस

जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में छात्र संगठन एनएसयूआई की जेएनयू यूनिट द्वारा दशहरा पर रावण की जगह प्रधानमंत्री का पुतला जलाने को लेकर एनएसयूआई ने कड़ा रुख इख्तियार किया है. छात्र संगठन ने जेएनयू विंग को कारण बताओ नोटिस जारी करने का फैसला लिया है. जेएनयू में पीएम का पुतला जलाए जाने को एनएसयूआई ने छात्र संगठन द्वारा नैतिक संहिता का उल्लंघन बताया है.
एनएसयूआई के अध्यक्ष का कहना है कि हम किसी के भी पुतले को जलाए जाने के खिलाफ हैं. हालांकि छात्रों की ये हरकत देश के युवाओं के बीच अशांति को दर्शाती है.

जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में कांग्रेस समर्थित छात्र संगठन एनएसयूआई के कुछ छात्रों ने मंगलवार की रात दशहरा पर रावण की जगह कथित तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमित शाह और योग गुरु बाबा रामदेव समेत उनके तमाम सहयोगियों का पुतला फूंका. इतना ही नहीं इस घटना का वीडियो बना इसे फेसबुक पर भी पोस्ट कर दिया गया है.

जेएनयू में एनसयूआई के एक छात्रनेता ने बताया कि, ‘हां, जेएनयू की एनएसयूआई यूनिट ने रावण की जगह मोदी, अमित शाह और रामदेव समेत कई बीजेपी नेताओं का पुतला जलाया है.’

छात्रों ने कहा, ‘हमारा यह विरोध प्रदर्शन वर्तमान सरकार से हमारे गहरे असंतोष को दर्शाने का जरिया है.’ रावण की तरह पीएम मोदी का पुतला फूंकते हुए छात्रों ने कार्ड पर नारा लिखा था, ‘बुराई पर सत्‍य की जीत होकर रहेगी.’

Share With:
Rate This Article