पुलिस ने रोका बाल विवाह, डोली रुकावकर लड़की को वापस भेजा घर

पुलिस ने रोका बाल विवाह, डोली रोक लड़की को वापस भेजा घर

अंबाला

पारस नगर में एक लड़की की शादी उस समय अधूरी रह गई जब वह डोली में बैठकर अपने पति के साथ उसके घर जाने के लिए रवाना हो ही रही थी कि इसी दौरान कुछ ऐसा हुआ कि सब धरे का धरा रह गया.

पुलिस ने शादी को अवैध करार देते हुए लड़की को कार से नीचे उतरवाकर उसे मायके भिजवा दिया और दूल्हे को बैरंग लौट जाने की हिदायत दी, इस वाकये के बाद दूल्हे का गर्लफ्रेंड को पत्नी बनाकर घर ले जाने का सपना चकनाचूर हो गया.

सतीश ने बताया कि उसके घर के पास रहने वाली यह लड़की उससे मिलने आती थी, दोनों की नजरें मिली और एक-दूसरे को चाहने लग गए कई मुलाकातें हुईं और फिर बात शादी तक पहुंच गई. लड़की के परिवार वाले राजी नहीं थे, बड़ी मुश्किल से राजी किया सतीश की मानें तो उसने कभी प्रेमिका से उसकी सही उम्र के बारे में पूछा भी नहीं.

लड़की के पिता ने बताया कि उनकी बेटी सतीश से ही शादी करना चाहती थी, वह घर से भाग न जाए और न ही कोई ऐसा वैसा काम कर ले इसलिए उसकी शादी सतीश के साथ कर दी.

पुलिस ने लड़की के माता- पिता और मोहल्ले वालों से पूछताछ की, कुछ देर बाद जिला बाल संरक्षण अधिकारी मेघा सिंगला भी पहुंच गई और उन्होंने दुल्हन से बातचीत करके उसकी उम्र का पता लगाने का प्रयास किया घरवालों ने दस्तावेज पानी में खराब हो जाने की बात कहकर टालने का प्रयास किया दूल्हा और दुल्हन को बालिग का सबूत देने के लिए दो दिन का वक्त दिया गया है.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment