90 साल बाद बदली RSS की पोशाक, सर्जिकल अटैक सहासी कदम- भागवत

90 साल बाद बदली RSS की पोशाक, सर्जिकल अटैक सहासी कदम- भागवत

90 साल बाद राष्ट्रीय स्वसंयवेक संघ का गणवेश बदल गया. संघ के स्वयंसेवकों ने विजयादशमी के मौके पर आयेाजित समारोह में खाकी निकर की बजाय ब्राउन फुल पैंट में पथ संचलन (मार्च) किया. नागपुर स्थित संघ मुख्यालय में चल रहे इस समारोह में शामिल होने के लिए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी भी पहुंचे हैं.

संघ प्रमुख मोहन भागवत ने आरएसएस के स्थापना दिवस पर कहा, ‘इस बार की विजयादशमी बहुत खास है. हमने 90 साल पूरे कर दिए हैं. यूनिफॉर्म में बदलाव से शायद मीडिया आकर्ष‍ित हो.’ उन्होंने कहा कि मोदी सरकार अच्छा काम कर रही है. देश धीरे-धीरे आगे बढ़ रहा है. हालांकि दुनिया की कुछ शक्तियां भारत को आगे बढ़ते देखना नहीं चाहतीं. भागवत ने कहा कि उन्हें (पाकिस्तान) ये संदेश मिल गया है कि सहने की सीमा होती है.
भागवत ने कहा, ‘मीरपुर, मुजफ्फराबाद और गिलगित-बाल्टिस्तान समेत सारा कश्मीर हमारा है. पाकिस्तान कश्मीर में अलगाववादी ताकतों को बढ़ावा दे रहा है. सर्जिकल स्ट्राइक पर संघ प्रमुख ने कहा, ‘सरकार ने बहुत शानदार कदम उठाया. भारतीय सेना ने हिम्मत का काम किया. यशस्वी नेतृत्व ने पाकिस्तान को अलग-थलग किया.’
खाकी निकर संघ की यूनिफॉर्म में 90 साल से शामिल थी. इस तरह से इस संगठन में एक पीढ़ीगत बदलाव आएगा जिसे बीजेपी का वैचारिक मार्गदर्शक माना जाता है. संघ ने स्वयंसेवकों के लिए मोजों के रंग को बदलने की भी मंजूरी दे दी है और पुराने खाकी रंग की जगह गहरे ब्राउन रंग के मोजे इसमें शामिल होंगे. हालांकि परंपरागत रूप से शामिल दंड गणवेश का हिस्सा बना रहेगा.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment