कुल्लू दशहरे का आगाज, हिंदू-मुस्लिमों ने खींचा भगवान रघुनाथ का रथ

कुल्लू दशहरे का आगाज, हिंदू-मुस्लिमों ने खींचा भगवान रघुनाथ का रथ

कुल्लू

देव महाकुंभ अंतरराष्ट्रीय दशहरा उत्सव मंगलवार को भगवान रघुनाथ की भव्य रथ यात्रा के साथ शुरू हो गया. श्रीराम चंद्र की जय के उद्घोष के साथ शुरू हुई ऐतिहासिक रथ यात्रा में हजारों की तादाद में लोग शामिल हुए. हिंदू और मुस्लिमों ने एक साथ अधिष्ठाता देव रघुनाथ का रथ खींचा. सिख समुदाय के लोगों ने इत्र का छिड़काव कर माहौल को खुशनुमा बना दिया.

रथ यात्रा के दौरान राज्यपाल आचार्य देवव्रत बतौर मुख्यातिथि मौजूद रहे. देव- मानस मिलन के प्रतीक इस धार्मिक व सांस्कृतिक महोत्सव के शुभारंभ पर हजारों की तादाद में लोग ढालपुर मैदान पहुंचे. 90 देवी-देवता शामिल हुए यात्रा में. रथ यात्रा में शामिल होने के लिए उमड़े हजारों लोग.

ढोल-नगाड़ों और देव वाद्य यंत्रों की मंगल ध्वनियों के बीच भगवान रघुनाथ, बिजली महादेव समेत कई देवताओं के साथ ढालपुर मैदान पहुंचे. रघुनाथ के रथ मैदान में पहुंचते ही माहौल भक्तिमय हो गया. जयकारों से पूरा ढालपुर गूंज उठा. माता भुवनेश्वरी का संकेत मिलते ही रथ यात्रा शुरू हुई.

रथ यात्रा के साथ ही भगवान रघुनाथ और दशहरा में पहुंचे देवी देवता ढालपुर स्थित अस्थायी शिविरों में विराजमान हो गए हैं. दशहरा उत्सव में इस बार करीब 300 देवता पहुंचे हैं. इससे पूर्व दोपहर बाद राज परिवार की दादी माता हिड़िंबा के रथ मैदान पहुंचते ही भगवान रघुनाथ के रथ के सभी पर्दे हटा दिए गए.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment