राजनाथ ने पाक को कड़ा संदेश देते हुए कहा, 'हमला हुआ तो गोलियां नहीं गिनेंगे'

राजनाथ ने पाक को कड़ा संदेश देते हुए कहा, ‘हमला हुआ तो गोलियां नहीं गिनेंगे’

दिल्ली

बीती रात दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में कुछ संदिग्ध आतंकवादी पुलिस चौकी पर तैनात पुलिसकर्मियों से राइफलें छीनकर फरार हो गए, सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भी पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है. पाकिस्तान के भेजे आतंकी रोज कहीं न कहीं हमले कर रहे हैं. इन सभी वारदातों से तंग आकर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान को कड़े शब्दों में एक बार फिर चेतावनी देते हुए कहा है कि हमला हुआ तो गोलियां नहीं गिनेंगे.

बॉर्डर की हिफाजत का जिम्मा सीमा सुरक्षा बल यानी बीएसएफ पर है. गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बॉर्डर की सुरक्षा को और अधिक मजबूत करने के लिए पूरे दो दिन राजस्थान बॉर्डर पर बिताए हैं. पाकिस्तान से लगी सीमा को इजरायल-फिलिस्तीन जैसी सीमा जैसा फौलाद बनाने के मिशन पर हैं राजनाथ सिंह लेकिन राजनाथ सिंह को उससे पहले भी काफी कुछ करना होगा. मुनावाबो में बीएसएफ जवान से सीधी बात की तो बीएसएस के एक जवान ने बड़ी सादगी से अपनी दिक्कत सामने रख दी.

दिक्कतों के बाद भी सीमा पर जवानों के हौंसले को देख राजनाथ सिंह को उन्हें सलाम करना पड़ा. उसी हौंसले की बदौलत राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान के आतंकी गैंग को कड़ी चेतावनी भी दे डाली. सर्जिकल स्ट्राइक के बाद राजनाथ सिंह ने कह दिया कि हमला हुआ तो इस बार गोलियां नहीं गिनी जाएंगी.

राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान को कड़ा संदेश देते हुए साफ शब्दों में कहा, ‘भारत ने कभी किसी पर हमला नहीं किया और दूसरों की जमीन हड़पने का हमारा कोई इरादा भी नहीं है. हमारी पंरपरा ‘वसुधैव कुटुंबकम’ की रही है. हम कभी पहले गोलीबारी नहीं करते, लेकन जब हम पर हमला हो जाए तो जवाब देते हुए हम गोलियां भी नहीं गिनते.’

भारत वाकई गोलियां नहीं पाकिस्तान के आतंकियों की लाशें गिन रहा है. सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भी पाकिस्तान की हरकतें जारी हैं. बारामूला, नौगाम, शोपियां में हमले नाकाम हुए और हमलावर आतंकी लौटकर पाकिस्तान नहीं जा सके.

राजनाथ सिंह के मिशन से पाकिस्तान भी डरा-सहमा सा नज़र आ रहा है. अगर सीमा पर ऐसी दीवारें खड़ी हो गईं कि पाकिस्तान की सेना, आईएसआई और उनके पाले हुए आतंकवादी तो बेरोजगारी ही हो जाएंगे. भारत के बॉर्डर एक्शन प्लान से पाकिस्तान को भी सांप सूंघा हुआ है. पाकिस्तान के विदेश सलाहकार सरताज अजीज ने कहा ‘अगर लोगों की आवाजाही और व्यापारिक संबंध बरकरार रहा तो पाकिस्तान-भारत सीमा को सील कर देने में कोई बुराई नहीं है.’

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment