दहेज के कारण नवविवाहिता की निर्मम हत्या, मामला दर्ज

दादरी

गांव किष्किंधा में बृहस्पतिवार रात दहेज की मांग पूरी न होने पर एक नवविवाहिता के अंदरूनी अंग में नुकीली वस्तु से वार कर निर्मम हत्या कर दी गई. पुलिस ने इस संबंध में मृतका के पिता की शिकायत पर उसके पति, ससुर, ताया ससुर व ताई सास के खिलाफ दहेज हत्या का मामला दर्ज कर लिया है.

गांव झासवा निवासी रामबीर सिंह ने अपनी दो पुत्रियों प्रीति व मनीषा की शादी करीब डेढ़ वर्ष पूर्व गांव किष्किंधा निवासी चचेरे भाइयों रवि व दिनेश के साथ की थी. शादी के समय मनीषा की पढ़ाई जारी होने के कारण उसे जून 2016 में ही ससुराल भेजा गया था.

परिजनों के मुताबिक मृतका के पति दिनेश ने बृहस्पतिवार रात को अपनी भाभी प्रीति को फोन कर अपने कमरे में बुलाया. प्रीति जब उनके कमरे में पहुंची तो मनीषा जमीन पर पूरी तरह निर्वस्त्र हालत में पड़ी थी तथा उसके गुप्तांग से काफी ज्यादा खून बह रहा था.

उसका बेड भी पूरी तरह खून से लथपथ था. प्रीति ने तुरंत उसे कपड़े पहनाए तथा ससुराल के अन्य लोगों की सहायता से उपचार के लिए बाढ़डा के एक निजी अस्पताल में लेकर गए. जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

इसके बाद उसके शव को वापिस घर लाया गया तथा घटना बारे मनीषा के मायके व बाढड़ा पुलिस को सूचना दी गई. सूचना मिलते ही पुलिस व परिजन मौके पर पहुंचे. मृतका के परिजनों ने पुलिस के समक्ष आरोप लगाया कि ससुराल पक्ष के लोगों ने दिनेश को हरियाणा पुलिस में भर्ती करवाने के लिए 10 लाख रुपये की मांग की थी.

जिसे देने को वे तैयार भी हो गए थे. इसके बावजूद उक्त लोगों ने मनीषा के अंदरूनी अंग में लोहे की किसी नुकीली वस्तु से वार करके मौत के घाट उतार दिया.

मृतका के पिता रामबीर सिंह ने आरोप लगाया कि मनीषा की सास का काफी पहले ही देहांत हो चुका है जबकि प्रीति की सास दोनों बहनों को दहेज की मांग को लेकर काफी प्रताड़ित करती थी. उनके साथ रोजाना मारपीट की जाती थी.

मनीषा के भाई राजकुमार ने बताया कि जब से मनीषा अपनी ससुराल गई थी उसे लगातार प्रताड़ित किया जा रहा था. वह थोड़े सांवले रंग की थी इसे लेकर उसे ताने दिए जाते थे. उसकी ताई सास उनसे कार की मांग करती थी. उन्होंने कई बार हजारों रुपये देकर बहन के परिवार को बसाने की सोची लेकिन मांगे बढ़ती गई.

Share With:
Rate This Article