पाकिस्तान ने आखिरकार माना; पहली बार विश्व में अकेला पड़ा पाक

पाकिस्तान ने आखिरकार माना; पहली बार विश्व में अकेला पड़ा पाक

पाकिस्तान भले ही कितना भी यह दावा करे कि विश्व में उसकी छवि एक बेहतर राष्ट्र के रूप में है, लेकिन उसके लिए हालात दिन प्रतिदन मुश्किल होते जा रहे हैं, नवाज सरकार को भी इस बात का अंदाजा होने लगा है कि हालिया दिनों में पाकिस्तान वैश्विक बिरादरी में तेजी से अलग-थलग हो रहा है, इसीलिए नवाज सरकार ने देश के सैन्य नेतृत्व को सख्त चेतावनी देते हुए कहा है कि पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय बिरादरी में अलग-थलग पड़ रहा है इसलिए वह इस स्थिति से निपटने के लिए सरकार के कार्यों में सहयोग प्रदान करे.

सोमवार को पाकिस्तानी सरकार द्वारा बुलाई गयी सर्वदलीय बैठक में दो मुद्दों को लेकर आम सहमति बनी है, पहला यह कि आईएसआई के महानिदेशक रिजवान अख्तर और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नासिर जांजुआ कम से कम चार-चार प्रांतों का दौरा करेंगे जिसमें प्रांतीय कमेटियों के लिए एक संदेश दिया जाएगा.

संदेश में यह बात होगी कि सेना की खुफिया एजेंसी आतंकियों के खिलाफ होने वाली कार्रवाई में किसी भी तरह का हस्तक्षेप नहीं करेगी, जनरल अख्तर के टूर की शुरूआत लाहौर से होगी.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि पठानकोट हमले की जांच को जल्द पूरा किया जाए और रावलपिंडी की आतंकवाद निरोधक अदालत में ठप पड़ी मुंबई हमलों से संबंधित मामलों को दोबारा शुरू किया जाए.

मंगलवार को बुलाई गयी सर्वदलीय बैठक के इतर विदेश सचिव एजाज चौधरी ने नवाज शरीफ को अलग से एक प्रजेंटेशन दी जिसमें फौज के अधिकारी भी शामिल थे, इस प्रजेंटेशन में चौधरी ने शरीफ को बताया कि हालिया घटनाओं के बाद पाकिस्तान कूटनीतिक तौर पर वैश्विक बिरादरी में अलग-थलग पड़ रहा है.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment