rbi-mh1-mhone

RBI ने दिया सस्ते कर्ज का तोहफा! रेपो रेट में 0.25 फीसदी की कटौती

मुंबई

रिजर्व बैंक के नये गवर्नर उर्जित पटेल ने आज अपनी पहली मौद्रिक समीक्षा में केंद्रीय बैंक के ब्याज दरों में एक चौथाई प्रतिशत (25 बेसिस प्वाइंट) की कटौती की है. रेपो रेट अब 6.25 हो गया, जो पहले साढ़े छह प्रतिशत था.

रेपो रेट में इससे पहले एक चौथाई फीसदी की कटौती इस साल अप्रैल की मौद्रिक समीक्षा में तत्कालीन गवर्नर रघुराम राजन ने की थी. रेपो रेट में की गयी आज की कटौती से बाजार को बड़ा सपोर्ट मिलने की उम्मीद है.

मौद्रिक समीक्षा समिति के सभी सदस्यों ने एक स्वर में रेट कट के पक्ष में मत दिया. रिजर्व बैंक ने खुदरा मुद्रास्फीति मार्च 2017 तक 5.0 प्रतिशत रहने का अनुमान व्यक्त किया है. हालांकि इसके इससे ऊंचे रहने का भी जोखिम कायम है. आबीआइ ने चालू वित्तीय वर्ष में जीडीपी वृद्धि दर अनुमान को 7.6 प्रतिशत पर ही बरकरार रखा.

इस बार की कटौती का लाभ आमलोगों को मिलने की भी उम्मीद है. समझा जाता है कि अब बैंक भी अपने ब्याज दर में कमी करेंगे और ग्राहकों पर इएमआइ का बोझ कम होगा. इस कटौती से पूर्व 2015 से रिजर्व बैंक ने रेपो रेट में डेढ़ प्रतिशत की कटौती की थी, जिसमें मात्र औसतन आधा प्रतिशत कटौती का लाभ ही ग्राहकों को बैंकों ने ट्रांसफर किया. इस बात को लेकर रिजर्व बैंक ने कई बार नाराजगी भी जतायी थी.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment