urjit-mh1-mhone

ऊर्जित पटेल आज पेश करेंगे अर्थव्यवस्था का रोडमैप, ब्याज दरों में कटौती की उम्मीद कम

रिजर्व बैंक के नए गर्वनर ऊर्जित पटेल के लिए मंगलवार का दिन अहम रहने वाला है. हाल में बनाई गई ऊर्जित पटेल की अध्यक्षता वाली मोनेटरी पॉलिसी कमेटी (एमपीसी) अपनी पहली मौद्रिक समीक्षा पेश करेगी, जिसमें कुछ बड़े ऐलान किए जा सकते हैं.

माना जा रहा है कि ये एमपीसी अपनी पहली मौद्रिक नीति समीक्षा में नीतिगत दर यानी पॉलिसी रेट के मामले में यथास्थिति बनाए रख सकती है. विशेषज्ञों का कहना है कि समिति को मुद्रास्फीति से जुड़े और आंकड़ों का अभी इंतजार है.

बैंक आफ महाराष्ट्र के प्रबंध निदेशक तथा मुख्य कार्यपालक अधिकारी आर पी मराठे ने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि रिजर्व बैंक नीतिगत दर में बदलाव करने जा रहा है क्योंकि थोक मूल्य सूचकांक और खुदरा मूल्य सूचकांक आधारित दोनों मुद्रास्फीति बहुत नरम नहीं हुई हैं.’खुदरा मुद्रास्फीति अगस्त में पांच महीने के निम्न स्तर 5.05 प्रतिशत पर आ गयी लेकिन थोक मूल्य सूचकांक आधारित महंगाई दर दो साल के उच्च स्तर 3.74 प्रतिशत रही.

अगस्त में गिरावट से पहले दोनों खुदरा एवं थोक कीमत सूचकांक आधारित महंगाई दरों में लगातार वृद्धि हो रही थी. सरकार ने अगस्त में रिजर्व बैंक के साथ मौद्रिक नीति मसौदा समझौते के तहत अगले पांच साल के लिये दो प्रतिशत घट-बढ़ के साथ चार प्रतिशत महंगाई दर का लक्ष्य रखा. ऊर्जित पटेल ही हैं, जिन्होंने रिजर्व बैंक के लिए मुद्रास्फीति पर जोर देने की बातों पर बल दिया.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment