mata-rani-mh1-mhone

भक्त के सपने में आकर मां दुर्गा ने बताया था अपने प्रकट होने का स्थान, तब सामने आया ये मंदिर

राजधानी दिल्ली के मध्य में एक ऐसा मंदिर है जो दिल्ली की पहचान बन चुका है। हम बात कर रहे हैं झंडेवाला मंदिर की जो झंडेवाली देवी को समर्पित एक सिद्धपीठ है। यहां नवरात्र के मौके पर भक्तों की लंबी कतारें लगी रहती हैं। अपने धार्मिक एवं ऐतिहासिक महत्व के कारण राज्य सरकार ने भी दिल्ली के प्रासिद्ध दर्शनीय स्थलों में इसे शामिल किया है।

वैसे तो इस मंदिर में नवरात्र में लाखों श्रद्धालु दर्शन करते हैं लेकिन ऐसा नहीं ‌है कि अन्य दिनों में यहां कम भीड़ होती है। झंडेवाली देवी के मंदिर में साल भर उत्सव सा ही माहौल रहता है। मंदिर में आने वाला प्रत्येक भक़्त यहां से मानसिक शांति और आनंद की अनुभूति लेकर ही जाता है।

झंडेवाला मंदिर का इतिहास 18वीं सदी के उत्तरार्ध से प्रारंभ होता है, जो अपने आप में ही बहुत दिलचस्प है। उसके बारे में बताने से पहले हम आपको ये बता दें कि आज जिस भीड़-भाड़ वाली जगह पर झंडेवाला मंदिर स्थित है वह हमेशा से ऐसी शोरगुल वाली जगह नहीं थी।

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment