rajan-mh1-mhone

हैंड राइटिंग एक्सपर्ट ने दिया बयान, छोटा राजन व मोहन कुमार के हस्ताक्षर नहीं समान

अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन और मोहन कुमार के हस्ताक्षर में कोई समानता नहीं है। यह बयान हैंड राइटिंग एक्सपर्ट ने बचाव पक्ष से जिरह करते हुए दिया। मामले में शुक्रवार को बचाव पक्ष ने अपनी बहस पूरी कर दी।

अदालत ने 17 अक्तूबर से अंतिम जिरह शुरू करने का निर्देश दिया है।पटियाला हाउस स्थित विशेष सीबीआई जज विनोद कुमार के समक्ष हैंड राइटिंग एक्सपर्ट वीसी मिश्रा से बचाव पक्ष ने जिरह की।

मिश्रा ने अपने बयान में कहा कि मोहन कुमार के पासपोर्ट व उसके आवेदन पत्र के हस्ताक्षर का काफी हद तक नमूने के तौर पर दिए गए हस्ताक्षर से मिलान नहीं होता।

सीबीआई का आरोप है कि छोटा राजन ने मोहन कुमार नाम से फर्जी पासपोर्ट लिया था। इस पासपोर्ट व आवेदन फार्म के दस्तखत का मिलान सीबीआई ने छोटा राजन के दस्तखत से करवाया था। छोटा राजन के नमूने के दस्तखत तिहाड़ जेल में लिए गए थे।

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment