rape-victim-mh1-mhone

जान देने वाली रेप पीड़ित विवाहिता का दावा झूठा, ये है पुलिस की थ्योरी

पांच युवकों पर गैंगरेप का आरोप मढ़ने के अगले ही दिन आत्महत्या करने वाली विवाहिता का दावा झूठा निकला पुलिस की जांच में। पुलिस के मुताबिक पीड़िता से पांच युवकों ने नहीं, एक ही युवक ने रेप किया था।

पुलिस जांच के बाद मामला उलझ गया है। घटना रोहतक के कलानौर की है। पीड़िता ने पहले पांच युवकों पर सामूहिक दुष्कर्म का आरोप लगाया था, लेकिन बाद में सरकारी वकील को दिये बयान में वह अपने पहले के बयान से मुकर गई।

वहीं, मामले में कलानौर थाने के एसएचओ जितेंद्र का दावा है कि अभी तक केवल सुनील की ही संलिप्तता सामने आ रही है। शनिवार को पुलिस ने महिला थाने और कलानौर थाने में पीड़िता के बयान दर्ज किये थे।

तब महिला ने पांच युवकों पर सामूहिक दुष्कर्म का आरोप लगाया था, लेकिन बाद में पीड़िता ने जब सरकारी वकील के सामने अपने बयान दर्ज करवाए गये तो सामूहिक दुष्कर्म के आरोप से मुकर गई।

पीड़िता ने वारदात में केवल सुनील के शामिल होने की बात कही। जबकि पुलिस ने पीड़िता के बयान के आधार पर सामूहिक दुष्कर्म और अपहरण का केस सुनील सहित पांच युवकों के खिलाफ दर्ज कर रखा है।

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment