pok-mh1-mhone

POK नागरिकों का दर्द : कहा,पाक की खिलाफत करने वाले हो जाते हैं लापता

पुंछ-रावलाकोट बस से सोमवार को पीओके लौट रहे कुछ नागरिकों ने उस पार से बार-बार होने वाले आतंकी हमलों पर प्रतिक्रिया देते हुए दर्द-ए-दिल बयां किया।

उन्होंने कहा कि हमें समझ नहीं आ रहा बेगुनाह लोगों का खून बहा कर यह लोग क्या साबित करना चाहते हैं और कौन सी आजादी लेना चाहते हैं। हिंदुस्तान में कौन गुलाम है? उन्होंने कहा कि गुलाम तो हम हैं जो पीओके में रहते हैं और पाकिस्तान की मर्जी के बिना सांस तक नहीं ले सकते हैं।

Share With:
Rate This Article