social-mh1-mhone

जमीन-जायदाद की तरह ऐसे चुनें फेसबुक अकाउंट का वारिस

जमीन-जायदाद की तरह आप अपने सोशल मीडिया अकाउंट का वारिस भी तय कर सकते हैं। फेसबुक, जीमेल और यू-ट्यूब समेत कई सोशल साइट्स यूजर को उनका उत्तराधिकारी चुनने का विकल्प देती हैं। ये उत्तराधिकारी चाहें तो यूजर के गुजर जाने के बाद उसका अकाउंट जारी रख सकते हैं या फिर उससे जुड़ा जरूरी डाटा हासिल कर सकते हैं।

गुजर जाने पर कौन करेगा अकाउंट इस्तेमाल
फेसबुक, जीमेल और यू-ट्यूब अकाउंट की वसीयत तैयार की जा सकती है। कोई भी यूजर खुद तय कर सकता है कि कल को उसके गुजर जाने की स्थिति में उसका सोशल अकाउंट कौन इस्तेमाल करेगा। हर साइट अकाउंट के उत्तराधिकारी को अलग अधिकार देती है। फेसबुक जहां यूजर के न रहने पर उत्तराधिकारी को उसका अकाउंट इस्तेमाल करने की इजाजत देता है, वहीं गूगल की सेवाओं जैसे जीमेल, गूगल प्लस और यू-ट्यूब यूजर का डाटा उत्तराधिकारी को सौंप अकाउंट डिलीट कर देते हैं।

फेसबुक अकाउंट का फैसला
2004 में फेसबुक के लॉन्च होने के आठ साल के भीतर उसके तीन करोड़ यूजर गुजर गए। ऐसे में लोगों के मन में सवाल उठा कि उनके न रहने पर अकाउंट का क्या होगा। फेसबुक ने इसी के मद्देनजर साल 2012 के आसपास उपभोक्ताओं को मौत के बाद अकाउंट डिलीट करने या फिर उसका उत्तराधिकारी तय करने का विकल्प दिया।

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment