yuvraj-mh1-mhone

जब ब्रॉड के एक ओवर में यूवी ने जड़े थे 6 छक्के

साल 2007 में आज के ही दिन (19 सितंबर) पहले आईसीसी वर्ल्ड टी-20 का 21वां मैच भारत और इंग्लैंड के बीच खेला गया था। टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। भारतीय ओपनर गौतम गंभीर और वीरेंद्र सहवाग ने टीम को अच्छी शुरुआत दी। दोनों ने पहले विकेट के लिए सिर्फ 88 गेंदों में 136 रन बनाए, जिससे बाकी के बल्लेबाजों को खुलकर बड़े शॉट्स खेलने का मौका मिला।

जब 20 गेंदें बची थीं तभी रॉबिन उथप्पा गेंदबाज क्रिस ट्रेमलेट के हाथों अपना विकेट गवां बैठे। अब भारत का स्कोर था 155-3। इसके बाद कप्तान धौनी का साथ देने क्रीज पर आए युवराज सिंह।

पिछली गेंद पर विकेट झटकने वाले और आत्मविश्वास से भरे ट्रेमलेट ने शॉर्ट लेंथ गेंद से युवराज का स्वागत किया। लेकिन उनके 17वें ओवर की आखिरी गेंद पर युवराज ने चौका लगा दिया। अगले ओवर में युवराज ने फ्लिंटॉफ की 4 गेंदों में 10 रन बनाए, जिसमें दो चौके शामिल थे। युवराज अब 6 गेंदों में 14 रन जोड़ चुके थे।

19वें ओवर के लिए कप्तान पॉल कॉलिंगवुड ने स्टुअर्ड ब्रॉड को गेंद थमाई। ब्रॉड की पहली गेंद पर यूवी ने मिड विकेट के ऊपर से छक्का लगा दिया। ये छक्का 111 मीटर दूर गया था। दूसरी गेंद पर भी यूवी ने बैकवर्ड स्क्वेर लेग के ऊपर से छक्का लगाया। युवराज ने तीसरा छक्का एक्स्ट्रा कवर के ऊपर लगाया। चौथी गेंद भी छक्के के लिए गई। युवी का पांचवां छक्का बेहद खूबसूरत था। आखिरी छक्का वाइड मिड ऑन की तरफ लगाया। अपने आखिरी छक्के के साथ युवराज ने महज 12 गेंदों में अपना रिकॉर्ड अर्धशतक पूरा किया।

युवराज का ये रिकॉर्ड आज तक कोई नहीं तोड़ पाया है। टी20 क्रिकेट में एक ओवर में 6 छक्के लगाने वाले युवराज एकलौते क्रिकेटर हैं, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में हरशल गिब्स के बाद दूसरे और सीनियर क्रिकेट में चौथे।

पारी के आखिरी ओवर में युवराज सिंह आउट हो गए। उन्होंने 14 मिनट में 58 रन बनाए। 20 ओवर में भारत ने इंग्लैंड के सामने 219 रन का लक्ष्य रखा और मैच 18 रन से जीत लिया। युवराज मैन ऑफ द मैच बने। भारत फाइनल मैच में पाकिस्तान को हराकर वर्ल्ड टी-20 चैंपियन बना।

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment