court-mh1-mhone

जम्मू में ड्रग तस्करों पर शिकंजा, फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुने जाएंगे नारकोटिक्स के मामले

जम्मू में मादक पदार्थों की तस्करी के बढ़ते मामलों के निपटारे के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट का गठन किया गया है। अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायालय को फास्ट ट्रैक का दर्जा देकर नारकोटिक्स के मामलों की जल्द सुनवाई की जा रही है। आरोेपियों को जल्द सजा हो, इसके लिए न्यायपालिका गंभीर है।

जम्मू में मादक पदार्थों के तस्करों का जाल बढ़ गया है। कश्मीर से लेकर जम्म्रू दिल्ली, मुंबई, दुबई आदि क्षेत्रों में मादक पदार्थों की सप्लाई हो रही है। पुलिस ने आपरेशन संजीवनी के तहत अगस्त महीने तक 137 मामले दर्ज किए हैं। कोर्ट में इन सभी मामलों की सुनवाई चल रही है।

जनवरी से लेकर अगस्त तक आठ महीने में इतनी संख्या में मामले में केवल जम्मू जिले में ही दर्ज किए गए हैं और सौ लोगों को अभी तक पकड़ा जा चुका है। चरस, अफीम, गांजा, हेरोइन, ब्राउन शुगर को बरामद किया गया है। इसके अलावा मेडिकल नारकोटिक्स के भी मामले दर्ज हुए हैं।

नगर का शायद ही ऐसा कोई थाना होगा, जहां नशीले पदार्थों की तस्करी का कोई मामला दर्ज नहीं किया गया हो। कोर्ट भी ऐसे मामलों में गंभीर है। कानून विभाग ने सत्र न्यायालय को विशेष अदालत नियुक्त करके मादक पदार्थों के मामलों की सुनवाई तेज करने की अधिसूचना जारी की है। एक कोर्ट में ही नारकोटिक्स के मामलों की सुनवाई होगी।

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment