tank-mh1-mhone

द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद सबसे भीषण टैंक युद्ध थी 1965 की लड़ाई

1965 में हुए भारत-पाक युद्ध को द्वितीय विश्व युद्ध के बाद के सबसे बड़े टैंक युद्घ के तौर पर जाना जाता है । रक्षा विशेषज्ञों के अनुसार 1965 की लड़ाई के दौरान पाकिस्तान की सेना भारतीय सेना से ज्यादा बेहतर स्थिति में थी ।

पाकिस्तान की सेना को रक्षा की तकनीक में अमेरिका का साथ मिला हुआ था । पाक सेना के पास शक्तिशाली पैटन टैंक थे, जिसकी वजह से वह रक्षा तकनीकी के मामले में भारतीय सेना से ज्यादा शक्तिशाली थी ।

पाकिस्तान की इस तकनीक के जवाब में भारत के पास द्वितीय विश्वयुद्ध के टैंको का दस्ता था लेकिन तमाम रक्षा उपकरणों के बावजूद भारतीय सेना के अदम्य साहस के आगे पाकिस्तानी सेना कमजोर पड़ गई ।

भारतीय शूरवीर अब्दुल हमीद ने अकेले पाकिस्तान के 7 पैटन टैंको को ध्वस्त कर दिया जिसने पाकिस्तान के हौसले तोड़ दिये।

Share With:
Rate This Article