akhilesh-mh1-mhone

शिवपाल के बाद अब अखिलेश बोले- ‘सरकार में झगड़ा, परिवार में नहीं’

शिवपाल यादव के बाद अब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी साफ किया कि परिवार में कोई झगड़ा नहीं है। हालांकि उन्होंने ये स्वीकार किया कि सरकार में मतभेद हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि बाहरी लोग दखल देंगे तो पार्टी कैसे चलेगी।

आज पत्रकारों से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश के ताजा राजनीतिक घटनाक्रम की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि परिवार में कोई झगड़ा नहीं है सरकार में है। उन्होंने कहा कि नेताजी (मुलायम सिंह) की बात कौन नहीं मानेगा। सब नेताजी की बात मानते हैं। लेकिन जब बाहरी लोग दखल देंगे तो पार्टी कैसे चलेगी। सीएम ये भी कहा कि कुछ फैसले नेताजी से पूछ कर लिये गए हैं और कुछ फैसले मेरे हैं।

सैफई में शिवपाल ने तोड़ी चुप्पी

सैफई में बुधवार को प्रदेश के कद्दावर मंत्री शिवपाल सिंह ने समाजवादी पार्टी में जारी घमासान को लेकर चुप्पी तोड़ी। उन्होंने कहा कि मंत्रालयों का बंटवारा मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार है। वह किसी का कोई भी मंत्रालय ले सकते हैं। जहां तक मेरा सवाल है नेताजी (मुलायम सिंह) से चर्चा के बाद ही कोई फैसला लूंगा।

ताजा राजनीतिक घटनाक्रम पर सपा प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि अब तक सपा मुखिया ने जो भी जिम्मेदारी सौंपी है उसे उन्होंने पूरी निष्ठा व मेहनत से निभाया है। समाजवादी पार्टी 2017 में फिर से सरकार बनाए, इसके लिए हम सब मिलकर काम करेंगे। साथ ही अब तक जमीनी कार्यकर्ताओं की जो उपेक्षा हुई है, वह अब नहीं होगी और जरूरी हुआ तो संगठन में परिवर्तन भी किया जाएगा।

इस्तीफे पर गोलमाल जवाब

कम महत्व के मंत्रालय मिलने और उससे नाराज होकर इस्तीफे देने के सवाल पर उन्होंने गोलमाल जवाब दिया। सपा नेता ने कहा कि पूरा फैसला सपा मुखिया के ऊपर छोड़ दिया। नेताजी से मिलने के बाद ही फैसला लेंगे कि क्या करना है। उनके पुत्र आदित्य यादव के पीसीएफ चेयरमेन पद और पत्नी सरला यादव के कोआपरेटिव निदेशक के पद से इस्तीफे की चर्चा पर भी शिवपाल सिंह ने कहा कि सभी फैसले नेताजी से मुलाकात के बाद लेंगे।

Share With:
Rate This Article