shahabudin-mh1-mhone

शहाबुद्दीन की रिहाई के खिलाफ राज्यपाल के पास जाएगी बीजेपी

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का एक प्रतिनिधिमंडल सोमवार को आरजेडी के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन की जमानत पर रिहाई के खिलाफ राज्यपाल रामनाथ कोविंद से मुलाकात करेगी। सीवान के चर्चित तेजाब कांड केस में 11 साल बाद शहाबुद्दीन शुक्रवार को जेल को रिहा हुए हैं। उनकी रिहाई पर बिहार में राजनीति तेज हो गई है।

बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी ने कहा कि शहाबुद्दीन और सुशासन एक साथ नहीं चल सकता है। रविवार को जारी अपने बयान में मोदी ने सवाल किया कि आतंक के पर्याय व सजायफ्ता मो.शहाबुद्दीन को भागलपुर से सीवान तक सैकड़ों गाड़ियों के काफिले और हथियार के साथ ‘दहशत का जुलूस’ निकालने की अनुमति कैसे मिली?

उन्होंने कहा कि क्या राजीव रौशन हत्याकांड में शहाबुद्दीन के बेल के खिलाफ सरकार हाईकोर्ट के डबल बेंच में अपील करेगी और ट्रायल के लिए सुप्रीम कोर्ट के श्रेष्ठ वकीलों की सेवा लेगी? वहीं स्वराज अभियान के संस्थापक सदस्य और जाने-माने अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने कहा कि वह बाहुबली नेता शहाबुद्दीन को जमानत पर रिहा किए जाने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील दाखिल करेंगे।

Share With:
Rate This Article