richa-mh1-mhone

फिल्मों में महिलाओं की इमेज को लेकर ऋचा को है ये शिकायत

बॉलीवुड एक्ट्रेस ऋचा चड्ढा का मानना है कि बॉलीवुड की सभी फिल्मों में महिलाओं के किरदार को अच्छा नहीं दिखाया जाता। उन्होंने एक चर्चा में कहा, ‘मनोरंजन जगत में बनने वाली सभी फिल्मों में महिलाओं के अच्छे किरदार को नहीं दर्शाया जाता। हालांकि बॉलीवुड में काफी अच्छी फिल्में भी बनी हैं।’

ऋचा का कहना है कि बॉलीवुड में ऐसे समझदार लोग भी है, जो महिलाओं, बच्चों के खिलाफ हिंसा या तस्करी को सहन नहीं करते। उन्होंने मुंबई में एक ‘जेंडर बेस्ड वॉयलेंस इन इंडिया’ के विषय पर हुई चर्चा में हिस्सा लिया था। ऋचा ने इस बात पर ध्यान दिया कि किस प्रकार कई लोग महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराधों पर खुल के चर्चा करने के बजाए अपनी बेटियों इनके साथ जीने देते हैं। उन्होंने अपने साथ हुई उस घटना का भी जिक्र किया, जिसने उन्हें काफी प्रभावित किया।

ऋचा ने कहा, “मैं ‘मैं और चार्ली’ की शूटिंग कर रही थी, जब मेरी किशोर पुनर्वास केंद्र में एक लड़के से मुलाकात हुई। उसे अपनी पड़ोस की 11 साल की लड़की से दुष्कर्म के आरोप में यहां लाया गया था। उसने काफी आराम से अपने अपराध के बारे में बात की।’ उन्होंने कहा कि इस प्रकार के लोग पुनर्वास केंद्र में रहकर भी नहीं सुधर सकते।

Share With:
Rate This Article