rajinder-mh1-mhone

पुंछ हमला: हेड कांस्टेबल राजिंदर की शहादत ने बचाई कई सैनिकों और नागरिकों की जान

आतंकी हमले में शहीद होने वाले जम्मू कश्मीर पुलिस के हेड कांस्टेबल राजिंदर कुमार उर्फ राजू ने अपने प्राणों की आहुति देकर कई लोगों की जान बचा ली।

अगर इस हमले में राजू ने बहादुरी न दिखाई होती, तो शायद आतंकी दर्जनों लोगों की जान ले सकते थे, क्योंकि जिस स्थान पर आतंकी छिपे हुए थे, वहां से पुंछ ब्रिगेड मुख्यालय मात्र 100 मीटर की दूरी पर है। इसके साथ ही वहां से मात्र 200 मीटर की दूरी पर मोहल्ला पावर हाउस के शिव, दुर्गा भैरव मंदिर में बने गणपति पंडाल में रविवार को यज्ञ और भंडारे का आयोजन किया जा रहा था, जिसमें हजारों की संख्या में लोगों को भाग लेना था।

इतना ही नहीं जिस स्थान पर राजिंदर कुमार शहीद हुए वहां से आधे घंटे के बाद सेना की टुकड़ी गुजरने वाली थी। ऐसे में अपनी शहादत से इस जांबाज सिपाही ने कई जानों को बचा लिया। राजौरी-पुंछ रेंज के डीआईजी जॉनी विलियम का कहना है कि हमें एक ओर अपने जवान की शहादत का गम हैं, तो वहीं दूसरी ओर उस पर फख्र भी है।

दूसरी ओर वीर सिपाही के परिवार पर और रिश्तेदारों पर कहर टूट पड़ा है। तीन भाई बहनों में सबसे छोटा एवं लाडला होने के बावजूद राजिंदर ने अपने देश के लिए कुछ करने की चाहत में पुलिस सेवा में भर्ती हुआ।

Share With:
Rate This Article