test-mh1-mhone

गुरूजी बनने के लिए टेट में 13 हजार ने आजमाई किस्मत

हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड ने दूसरे चरण की अध्यापक पात्रता परीक्षा का आयोजन किया। प्रदेशभर के 52 परीक्षा केंद्रों में सुबह और सायंकालीन सत्र में करीब 13 हजार अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी। शनिवार सुबह के सत्र में दस से साढ़े 12 बजे तक टीजीटी नॉन मेडिकल, जबकि शाम को दो से साढ़े चार बजे तक भाषा अध्यापक की टेट परीक्षा हुई।

टीजीटी नॉन मेडिकल के लिए कुल 7843 आवेदन आए थे, जबकि 686 आवेदन रद्द होने के बाद 7157 आवेदकों को प्रवेश पत्र जारी किए गए थे। वहीं भाषा अध्यापक के लिए 6831 आवेदनों में से 518 आवेदन रद्द हुए, जबकि 6313 आवेदकों को बोर्ड ने प्रवेश पत्र जारी किए।

उधर, स्कूल शिक्षा बोर्ड सचिव डॉ. मेजर विशाल शर्मा ने बताया कि शनिवार को दो सत्रों में टीजीटी नॉन मेडिकल और भाषा अध्यापकों की टेट परीक्षा ली गई है। तीन चरणों में आयोजित टेट परीक्षा में रविवार को सबसे अधिक अभ्यर्थी परीक्षा में बैठेंगे। रविवार को

प्रदेशभर के सर्वाधिक 138 परीक्षा केंद्रों में टीजीटी आर्ट्स की टेट परीक्षा होगी। सुबह के सत्र में होने वाली इस परीक्षा में प्रदेश भर में 35 हजार से अधिक परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। वहीं दूसरे सत्र में 53 परीक्षा केंद्रों में टीजीटी मेडिकल की परीक्षा में पांच हजार से अधिक परीक्षार्थी परीक्षा देंगे।

Share With:
Rate This Article