Punjab-Kejriwal-Mh1-Mhone

पंजाब में पार्टी को ”संजीवनी” देने के लिए ये कदम उठाने जा रहे केजरीवाल

आम आदमी पार्टी की सारी उम्मीदें अपने राष्ट्रीय कन्वी‍नर और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पंजाब दौरे पर टिकी हैं। पार्टी को लग रहा है कि केजरीवाल के दौरे से डैमेज कंट्रोल होगा। उधर, पार्टी की निगाहें छह सितंबर से शुरू हो रहे सुच्चा सिंह छोटेपुर के पंजाब दौरे पर भी लगी हैं।

पिछले कुछ दिन आप के लिए काफी मुश्किल भरे रहे हैं। पहले छोटेपुर का स्टिंग, उसके बाद छोटेपुर का आप से अलग होना। फिर तेरह में सात जोनल कॉर्डिनेटरों का छोटेपुर के साथ जाना पार्टी को भारी पड़ा है। पूरे घटनाक्रम से निचले स्तर के वॉलंटियर्स में भी असमंजस की स्थिति पैदा हो गई है।

सभी उत्सुक हैं कि कौन ज्यादा मजबूत होगा, छोटेपुर या आम आदमी पार्टी। आप की नजरें की छोटेपुर के दौरे पर लगी हैं। वह छह को गुरदासपुर से अपने पंजाब दौरे का आगाज करेंगे। उसके बाद सात को जालंधर, आठ को रोपड़ और नौ को फतेहगढ़ साहिब जाएंगे।

सभी जगह जाकर वह वॉलंटियर्स के साथ बैठकें करेंगे, अपने अगले कदम के बारे में उनकी राय लेंगे। उसके बाद ही वह फैसला लेंगे। आप की नजरें इसी बात पर लगी हैं कि छोटेपुर को जिलों में कितना रिस्पॉन्स मिलता है, कितने वॉलंटियर या पार्टी से नाराज अन्य लोग उनके साथ जाते हैं।

Share With:
Rate This Article