Rahul-Mh1-Mhone

देवरिया से राहुल का चुनावी शंखनाद, 225 विधानसभा में करेंगे खाट पंचायत

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस का 27 साल का निर्वासन खत्म करने के लिए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी किसान यात्रा की शुरुआत मंगलवार को देवरिया से करेंगे। गांधी का हेलीकॉप्टर रुद्रपुर तहसील के पचलड़ी गांव में बने हेलीपैड पर सुबह 10.30 बजे उतरेगा।

करीब सवा छह घंटे तक रोड शो और खाट चौपाल के जरिए किसानों से रूबरू होते हुए वह कुशीनगर पहुंचेंगे। इसके बाद रात्रि विश्राम गोरखपुर में करेंगे। देवरिया से दिल्ली तक किसान यात्रा की तैयारियों के लिए पार्टी के रणनीतिकार प्रशांत किशोर की टीम जिले में एक हफ्ते से जमी है। कर्ज माफी और फसल मुआवजे के मुद्दे के साथ यात्रा का फोकस किसान, मजदूर और दलित हैं। ऐसे में ढाई हजार किलोमीटर की इस यात्रा को उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए जमीन तैयार करने से जोड़कर देखा जा रहा है।

इस दौरान राहुल प्रदेश के 225 विधानसभा क्षेत्रों से गुजरेंगे। पचलड़ी की दलित बस्ती से शुरू होने वाली किसान यात्रा देवरिया में चार विधानसभा क्षेत्रों से गुजरेगी। इस दौरान ऐतिहासिक दुग्धेश्वरनाथ मंदिर में जलाभिषेक भी करेंगे। फिर कुशीनगर, गोरखपुर, संतकबीरनगर, बस्ती होते हुए फैजाबाद पहुंचेंगे। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी रुद्रपुर (देवरिया) में भगवान शंकर से आशीर्वाद लेकर मंगलवार को किसान यात्रा शुरू करेंगे।

राहुल के लिए उत्तर प्रदेश का तीसरा विधानसभा चुनाव है। इससे पहले वह 2007 और 2012 के चुनाव में प्रचार कर चुके है। इस बार चुनाव प्रचार पिछले चुनावों से अलग है। राहुल ने ठीक वही रणनीति अपनाई है, जो सोनिया गांधी ने 2004 के लोकसभा चुनाव में अपनाई थी। सोनिया ने तत्कालीन वाजपेयी सरकार के खिलाफ पश्चिमी यूपी में किसान यात्रा कर किसान विरोधी नीतियों को उजागर किया था।

कांग्रेस जानती है कि कर्ज माफी किसानों के लिए एक बड़ा मुद्दा है। यूपीए एक सरकार में कर्ज माफ कर पार्टी 2009 में सरकार बनाने में कामयाब रही। इस बार राहुल गांधी किसानों के कर्ज माफी के साथ बिजली के बिल को भी मुद्दा बनाएंगे। कांग्रेस अभी तक चुनाव में जातीय समीकरणों को बहुत तरजीह नहीं देती थी। पर पार्टी ने इस बार ब्रह्ममण मतदाताओं का भरोसा जीतने के लिए शीला दीक्षित को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया है। पार्टी मुस्लिम मतदातओं को भी अपने साथ जोड़ने की कोशिश कर रही है। पार्टी को इस बार अपने संगठन पर भरोसा है। खुद राहुल पूरे प्रदेश के बूथ लेवल कार्यकर्ताओ से मुलाकात कर चुके हैं। पार्टी को यकीन है कि इस बार कार्यक्रमों में आने वाली भीड़ को वोट में बदलने में कामयाब रहेगी।

पिछले चुनावों से अलग इस बार प्रियंका गांधी भो प्रचार करेंगी। पार्टी को उम्मीद है कि इससे पार्टी कार्यकर्ताओं का उत्साह बढे़गा। इसके साथ उत्तर प्रदेश कांग्रेस इस बार एकजुट है। लोगों तक पहुंचने के लिए पार्टी ने खाट सभा और मांग पत्र जैसे अभियान शुरू किए हैं। पार्टी को भरोसा है कि इसके जरिए वह अपना प्रचार लोगों तक पहुचाने में सफल रहेगी।

Share With:
Rate This Article