Yogeshwar-Mh1-Mhone

लंदन ओलंपिक से योगेश्वर को मिला ब्रॉन्ज अब बदलेगा सिल्वर में, जानिए कैसे

रियो ओलंपिक 2016 से खाली हाथ लौटे पहलवान योगेश्वर दत्त के लिए एक अच्छी खबर आई है। योगेश्वर ने साल 2012 में हुए लंदन ओलंपिक में जो ब्रॉन्ज मेडल जीता था अब वो सिल्वर में अपग्रेड होने जा रहा है। बता दें कि जिस रूसी पहलवान को लंदन ओलंपिक में सिल्वर मिला था उसका डोप टेस्ट पॉजिटिव निकला है, ऐसे में अब उसका मेडल वापिस लिया जाएगा और तीसरे नंबर पर रहे योगेश्वर का मेडल अपग्रेड हो जाएगा।

क्या है मामला
बता दें कि लंदन ओलंपिक में फ्रीस्टाइल 60 किलोग्राम इवेंट में रूस के बेसिक कुदुखोव ने सिल्वर मेडल जीता था। इसी इवेंट में योगेश्वर को कांस्य से संतोष करना पड़ा था। हालांकि बेसिक कुदुखोव चार साल बाद अब डोप टेस्ट में फेल हो गए हैं जिसके चलते उनका सिल्वर योगेश्वर को मिलने वाला है जबकि योगेश्वर का ब्रॉन्ज चौथे नंबर पर रहे खिलाड़ी को दिया जाएगा। गौरतलब है कि कुदुखोव की सिर्फ 27 साल की उम्र में साल 2013 में एक कार दुर्घटना में मौत हो चुकी है।

कैसे हुआ ये सब
नियम के मुताबिक इस महीने रियो ओलिंपिक से पहले अंतरराष्‍ट्रीय ओलिंपिक समिति (आईओसी) ने लंदन ओलिंपिक के दौरान एकत्र किए सैंपलों का फिर से परीक्षण किया था। बता दें कि ऐसा एक स्‍टैंडर्ड अभ्‍यास के तहत किया जाता है और ऐसे सैंपलों को 10 साल तक संरक्षित रखा जाता है। ऐसा इसलिए किया जाता है क्योंकि अगर कोई आधुनिक दवाओं के इस्तेमाल से डोप टेस्ट में बच गया है तो उसे पकड़ा जा सके। ये टेस्ट बेहद एडवांस्ड तरीकों से किया जाता है।

बताया जा रहा है कि योगेश्वर को सिल्वर मिलने की आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है लेकिन डोप टेस्ट में बेसिक कुदुखोव के फेल होने के बाद ये तय है। अपग्रेड की घोषणा होने के बाद योगेश्‍वर भी लंदन में सिल्‍वर मेडल धारी माने जाएंगे। इस तरह लंदन ओलिंपिक में सिल्‍वर जीतने वाले अन्‍य भारतीय प्‍लेयरों पहलवान सुशील कुमार और शूटर विजय कुमार की श्रेणी में शुमार हो जाएंगे। इसके साथ ही ओलिंपिक में सिल्‍वर मेडल हासिल करने वाले दूसरे भारतीय पहलवान हो जाएंगे। इसी श्रेणी के 66 किग्रा भार वर्ग में सिल्‍वर मेडल हासिल करने वाले दूसरे पहलवान सुशील कुमार हैं।

Share With:
Rate This Article