Dhoni-Mh1-Mhone

T20 सीरीज खत्म, फिर अमेरिका आकर खेलना चाहेंगे कप्तान धौनी

भारत और वेस्टइंडीज के बीच दूसरा अंतरराष्ट्रीय ट्वेंटी 20 भले ही तकनीकी कारणों और फिर बारिश से बर्बाद रहा हो लेकिन कप्तान महेंद्र सिंह धौनी का मानना है कि अमेरिका क्रिकेट के लिहाज से अच्छी जगह है और वह यहां और मैच खेलना चाहेंगे।

दोनों टीमों के बीच दो ट्वेंटी 20 मैचों की सीरीज का दूसरा मैच रविवार को रद्द रहा था। इससे वेस्टइंडीज ने 1-0 से सीरीज अपने नाम कर ली थी जबकि इस मैच में भारतीय टीम की शुरुआत काफी मजबूत रही थी और उसके पास बराबरी का मौका था। भारतीय कप्तान धौनी ने मैच के बाद अमेरिका में क्रिकेट के अनुभव को लेकर कहा कि वह यहां दोबारा आकर खेलना चाहेंगे।

उन्होंने कहा कि इस जगह पर वापस आकर हम क्रिकेट खेलना चाहेंगे। यह जगह त्रिकोणीय या चार देशों के बीच वनडे और ट्वेंटी 20 सीरीज खेलने के लिहाज से बहुत अच्छी है और मेरे हिसाब से सबसे छोटा प्रारूप यहां अच्छा रहेगा। यह जगह काफी अच्छी है।

कप्तान ने साथ ही कहा कि वर्ष के इस समय में अमेरिका में क्रिकेट खेला जा सकता है क्योंकि इस दौरान टीम बहुत अधिक क्रिकेट नहीं खेलती है। धौनी ने कहा एक के बाद एक मैच खेलना अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटरों के लिये कुछ मुश्किल होता है लेकिन मुझे नहीं लगता कि मौजूदा समय के खिलाड़ियों को इससे फर्क पड़ता है। इस समय में अमेरिका में क्रिकेट खेला जा सकता है क्योंकि इस दौरान टीमों के पास समय होता है और प्रसारकों और दर्शकों के पास भी समय रहता है। सभी के लिये यह अच्छा है और क्रिकेट के लिहाज से भी यह जगह अच्छी है।

मैच को लेकर कप्तान ने कहा कि मैं अपने गेंदबाजों के प्रदर्शन से खुश हूं खासतौर पर लेग स्पिनर मिश्रा का खेल अच्छा था। हमारे गेंदबाजों ने अपनी योजना को पूरी तरह से लागू किया। हम यहां पर 150 तक के स्कोर को अच्छे से हासिल कर सकते थे। यदि हम अच्छी बल्लेबाजी करते तो सीरीज बराबरी करने का हमारे पास मौका था। हालांकि दोनों ही मैचों में यहां की विकेट काफी अलग रही।

धौनी ने कहा कि हमने मिश्रा को इस मैच में बिन्नी की जगह उतारा था और यह एक जोखिम था क्योंकि इससे हमारे पास एक बल्लेबाज कम हो गया था। लेकिन इस विकेट पर हमें लगा कि अतिरिक्त गेंदबाज होना जरूरी है और लेग स्पिनर हमें विकेट दे सकता है इसलिये हमने मिश्रा को मौका दिया और हमारी सोच सही निकली। मिश्रा ने असाधारण गेंदबाजी की और रविचंद्रन अश्विन को काफी मदद की। दोनों ही स्पिनरों का प्रदर्शन अच्छा था।

विजेता वेस्टइंडीज टीम के कप्तान कार्लोस ब्रेथवेट ने जीत पर खुशी जताई। उन्होंने कहा हमने दूसरे मैच में बड़ा स्कोर तो नहीं बनाया था लेकिन हमें यकीन था कि हम जीतेंगे। यह बहुत धीमी विकेट थी और भारतीय गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया। उन्होंने योजना के अनुसार खेला। लेकिन हमने अपनी तरफ से पूरी कोशिश की। हमें जैसा स्कोर चाहिये था वैसा नहीं मिला लेकिन हमें यकीन था कि हम उस स्कोर का बचाव कर लेंगे।

पहली बार टीम की कप्तानी कर रहे ब्रेथवेट ने 1-0 से सीरीज जीतने पर कहा कि वह युवा टीम का नेतृत्व करके बहुत खुश हैं और हमेशा से चैंपियन बने रहना चाहते हैं। उन्होंने साथ ही अमेरिका में क्रिकेट खेलने पर खुशी जताई।

Share With:
Rate This Article