Punjab-Sports-Mh1-Mhone

ओलंपिक के लिए बने नई खेल नीति, मिल्खा सिंह ने भी भरा दम, जानिए क्या कहा?

रियो ओलंपिक में दो मेडल आने पर देश खुश हो रहा है। वहीं, कई देश ऐसे भी हैं जिनके के एक खिलाड़ी कई मेडल जीत कर अपना जलवा दिखा चुके है। यह कहना है उड़न सिख के नाम से जाने वाले मिल्खा सिंह का।

उड़न सिख के नाम से मशहूर मिल्खा सिंह ने रियो ओलंपिक 2016 में खिलाड़ियों के लाचार प्रदर्शन पर अपनी नाखुशी जाहिर करते हुए कहा कि अब हमें पुराने खिलाड़ियों पर निर्भर नहीं रहना चाहिए। लिएंडर पेस, अभिनव बिंद्रा, सानिया मिर्जा का कैरियर ढलान पर है। अब समय आ गया है कि हम नए बच्चों को आगे लाएं। समय गंवाए बगैर हमें नई खेल नीति बनानी होगी।

इनके अनुसार देश केपास पैसा है, स्टेडियम है, इंफ्रास्ट्रक्चर है, बेहतरीन कोच हैं इसके बावजूद खिलाड़ी आशा केअनुरूप प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं। हमें अभी से देश के लिए नई प्रतिभाओं को खोजना होगा जिससे आने वाले ओलंपिक केलिए मेडल की आस रहे क्योंकि करोड़ों देश वासियों की नजर अपने खिलाड़ियों पर रहती है।

खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर तुरंत मंथन की जरूरत
मिल्खा सिंह ने कहा कि एक भी दिन खराब किए बिना रियो ओलंपिक में खराब प्रदर्शन पर तुरंत मीटिंग बुलाई जानी चाहिए। जिसमें खेल मंत्री, इंडियन ओलंपिक कमेटी (आइओसी) के प्रधान, सेक्रेटरी को शामिल कर ओलंपिक में खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर मंथन किया जाना चाहिए। इनके अनुसार ओलंपिक का स्टैंडर्ड काफी हाई रहता है। चार साल की कड़ी मेहनत के बाद ही खिलाड़ी मेडल केकरीब पहुंचता है

Share With:
Rate This Article