Kashmir-Mh1-Mhone

49 दिनों में कश्मीर घाटी के कारोबार को 6400 करोड़ की चपत

घाटी में डेढ़ महीने की हिंसा ने कश्मीर की अर्थव्यवस्था की कमर तोड़कर रख दी है। आठ जुलाई के बाद से बंद, हिंसा, कर्फ्यू और पाबंदियों के बीच कारोबार चौपट हो गया है।

कश्मीर के कारोबारियों ने नुकसान का आकलन करते हुए दावा किया है कि अब तक 6400 करोड़ का नुकसान हो चुका है। सामान्य हालात में घाटी में रोजाना 135 करोड़ का कारोबार होता है। यह आकलन छह महीने पुराना है। इसका सीधा मतलब ये है कि वर्तमान में हिंसा से कारोबार को हुआ नुकसान न्यूनतम 6400 करोड़ हुआ है जो हकीकत में इससे भी अधिक हो सकता है।

कश्मीर ट्रेडर्स एंड मैनुफेक्चरर्स फेडरेशन के अध्यक्ष मोहम्मद यासीन खान के अनुसार नुकसान के ये आंकड़े न्यूनतम स्तर दर्शा रहे हैं। कश्मीर में अमूमन ऐसे हालात बनते हैं। मामले का स्थायी समाधान होना चाहिए।

Share With:
Rate This Article