PU-Mh1-Mhone

पीयू चुनाव: बड़े छात्र संगठनों ने गठजोड़ के लिए शुरू किया मंथन

पंजाब यूनिवर्सिटी (पीयू) और शहर के सभी कॉलेजों में छात्र काउंसिल चुनाव में जीत के लिए रणनीति बनानी शुरू कर दी है। सभी छात्र संगठनों ने वोट बैंक मजबूत करने के लिए दिन रात प्रचार शुरू कर दिया है। बेशक अभी चुनाव की अधिकारिक तौर पर तिथि घोषित नहीं हुई है, लेकिन प्रचार का समय कम देखते हुए नेताओं ने कमर कस ली है।

7 सितंबर को पीयू कैंपस और कॉलेजों में चुनाव के संबंध में सोमवार को यूटी प्रशासन की ओर से चिट्ठी जारी होने की उम्मीद है। पंजाब यूनिवर्सिटी के छात्र काउंसिल की सीट पर अकेले कब्जा कर पाना किसी भी छात्र संगठन के लिए मुमकिन नहीं। ऐसे में जीत के लिए बड़े छात्र संगठनों को भी कम वोट बैंक वाले छात्र संगठनों से गठजोड़ करना होगा। आगामी छात्र काउंसिल चुनाव में भी इनसो और एबीवीपी की भूमिका अहम रहेगी। ऐसे में सभी मुख्य पार्टियों का इन संगठनों को अपने साथ मिलाने पर जोर रहेगा।

जीसी-11 में भिड़े पुसू और जीसीएसयू छात्र, सिर पर लगे टांके
काउंसिल चुनाव के साथ ही हिंसक वारदातों का दौर भी शुरू हो गया है। शुक्रवार को सेक्टर-11 पोस्ट ग्रेजुएट गवर्नमेंट कॉलेज में पुसू और जीसीएसयू छात्र नेताओं के बीच मारपीट हुई । बीए के छात्र शुभम को गंभीर अवस्था में पीजीआई में भर्ती करवाना पड़ा। मामले में कई छात्रों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई है।

चुनाव को लेकर पीयू प्रशासन ने अपने स्तर पर तैयारी कर ली है। यूटी प्रशासन से अब सिर्फ चिट्ठी का इंतजार है। चुनाव शांतिपूर्वक करवाने के लिए हर संभव तैयारी है। हिंसा फैलाने वाले विद्यार्थियों के खिलाफ पीयू प्रशासन इस साल सख्त कदम उठाएगा। कैंपस में पुलिस की तैनाती भी बढ़ा दी गई है।
डॉ.जितेंद्र ग्रोवर ,चीफ सिक्योरिटी ऑफिसर पंजाब यूनिवर्सिटी

Share With:
Rate This Article