CBI-Mh1-Mhone

प्रशासक बोले, चंडीगढ़ स्मार्ट नहीं वर्ल्ड की स्मार्टेस्ट सिटी हो, दिए निर्देश

चंडीगढ़ प्रशासक वीपी सिंह बदनौर ने कहा कि चंडीगढ़ को स्मार्ट नहीं वर्ल्ड की स्मार्टेस्ट सिटी बनाने पर काम होगा। यूटी सेक्रेटरिएट में अधिकारियों की मीटिंग के दौरान उन्होंने कहा कि ली कार्बूजिए की सोच के हिसाब से शहर का विकास होना चाहिए। लेकिन बिल्डिंग और सड़कों के साथ मानवता भी झलकनी चाहिए। अब शहर में ह्यूमन टच वाले काम भी होंगे।

इनमें दिव्यांग अनुकूल चीजें और ब्लाइंड स्कूल पर फोकस रहेगा। कहीं कोई एक्सीडेंट हो तो लोग तुरंत सहायता के लिए तैयार हों, ऐसी मानवता दिखनी चाहिए। उन्होंने अधिकारियों से वर्ल्ड क्लास यूरोपियन शहरों की महत्वाकांक्षाओं पर स्टडी करने के आदेश दिए। ग्रीन सिटी, सोलर सिटी जैसे क्षेत्रों में नए आयाम खोजने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ शून्य कार्बन उत्सर्जन वाला शहर कैसे बने इस काम को करने की जरूरत है। चंडीगढ़ ऐसा शहर होना चाहिए जिसे विश्व भर से लोग देखने आएं।

पॉलिसी बनते ही उसको लागू करने के नियम भी बनाए जाएं
बदनौर के सामने पॉलिसी लागू नहीं होने का सवाल उठाया गया तो उन्होंने कहा कि कई कानून बनने के बाद भी उनके रूल नहीं बनने के कारण लागू नहीं हो पाए हैं। उन्होंने अधिकारियों को मौके पर आदेश दिए कि जो भी पॉलिसी बनाई जाए उसको लागू करने के नियम भी साथ ही बनाए जाएं, ताकि उनको सही तरीके से लागू भी किया जा सके। इंडस्ट्रियल और हाउसिंग संबंधी जो पॉलिसी बनाई गई हैं वह अभी तक सही ढंग से लागू नहीं हो पाई हैं।

Share With:
Rate This Article