Treffic-Mh1-Mhone

दिल्ली: ट्रैफिक का हाल बताने वाला ‘एप’ ट्रायल में ही हो गया फेल

ट्रैफिक की ताजा जानकारी देने के लिए बनाया गया मोबाइल एप ट्रायल में फेल हो गया है। गूगल की तर्ज पर बनाए जा रहे मोबाइल एप पर पिछले साल काम शुरू हुआ था। एप को इस साल फरवरी में लांच किया जाना था, लेकिन तकनीकी कारणों से लांचिंग में देरी होती चली गई। अब नए सिरे से एप पर काम शुरू किया जाएगा।

सूत्र बताते हैं कि जिस कंपनी को यह एप तैयार करने की जिम्मेदारी दी गई थी, वह उन सभी बातों को एप में शामिल नहीं कर सकी, जिनका जिक्र प्रस्तुतिकरण के दौरान किया गया था। ट्रायल में एप में न तो सड़कों और न ही जाम की सूचना आदि बातों का सामंजस्य नजर आया। मोबाइल एप में 50 कॉरिडोर शामिल किए गए थे।

एयरपोर्ट, नई दिल्ली एवं पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन, अक्षरधाम, आईएसबीटी कश्मीरी गेट एवं आनंद विहार, रोहतक रोड, करनाल बाईपास, जेएलएन स्टेडियम, खान मार्केट, आश्रम, आरटीआर, धौलाकुआं एवं दूसरे कई बड़े मार्गों की जानकारी एप में मिलनी थी।

एप का यह फायदा : वाहन चालक को ट्रैफिक से जुड़ी सूचनाएं समय पर मिल जाएंगी। वे अपनी सहूलियत के हिसाब से रूट डायवर्ट कर सकेंगे।

इस तरह काम करता है यह एप: यदि किसी चालक को आईटीओ से अक्षरधाम जाना है तो उसे मोबाइल एप में दो सूचनाएं डालनी होंगी। एक, कहां से कहां तक जाना है और दूसरी, किसी विशेष मार्ग से जाना चाहते हैं (मतलब, वाया) तो उस रोड का नाम भी लिखना होगा। इसके कुछ ही सेकेंड बाद आपको सूचना मिलेगी कि आईटीओ से लेकर अक्षरधाम तक किस हिस्से में ट्रैफिक हैवी है या जाम लगा है।

Share With:
Rate This Article