USA-MH1-Mhone

13 करोड़ लोगों को जीवित रहने के लिए मदद की जरूरतः मून

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून ने विश्व मानवता दिवस पर दिए गए एक संदेश में कहा है कि रिकॉर्ड 13 करोड़ लोग जीवित रहने के लिए सहायता पर निर्भर करते हैं और यह आश्चर्यजनक संख्या पृथ्वी के सर्वाधिक जनसंख्या वाले दसवें देश के बराबर है।

संयुक्त राष्ट्र महासभा में यह दिवस मनाने के लिए कल रात आयोजित एक समारोह में अरब आइडल के विजेता मोहम्मद असफ, गेम ऑफ थ्रॉन्स में अभिनय करने वाली नाताली डोर्मर, द वॉयस की विजेता एलिसन पोर्टर और पूर्व हैमिल्टन स्टार लेज्ली ओडोम जूनियर के अलावा सैकड़ों राजनयिकों एवं मेहमानों ने वैश्विक पीड़ा को कम करने के प्रयास तेज करने में समर्थन देने के लिए शिरकत की।

महासभा ने वर्ष 2008 में विश्व मानवता दिवस मनाए जाने की शुरूआत की थी ताकि उन मानवीय सहायता कर्मियों को सम्मानित किया जा सके, जिन्होंने अपना काम करते हुए अपनी जान गंवा दी या घायल हो गए। यह दिवस मनाने के लिए 19 अगस्त की तारीख इसलिए तय की गई थी क्योंकि इस दिन वर्ष 2003 को बगदाद में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में बमबारी हुई थी, जिसमें इराक में संयुक्त राष्ट्र के शीर्ष दूत सर्जियो विएरा डी मेल्लो समेत 22 कर्मी मारे गए थे।

संयुक्त राष्ट्र के उप महासचिव जान एलियासन ने कहा कि यह बलिदान एवं साहसिक कार्यों को याद रखने, हमारी साक्षी मानवीयता को याद करने और विश्व भर के उन हजारों मानवीय सहायता कर्मियों को श्रद्धांजलि देने का दिन है, जिन्होंने संकट और घोर निराशा के बीच जरूरतमंद लोगों को जीवनरक्षक मदद मुहैया कराने के लिए अपनी जिंदगी जोखिम में डाली।

उन्होंने बताया कि पिछले साल 109 सहायता कर्मी मारे गए, 110 कर्मी घायल हुए और 68 कर्मियों का अपहरण हुआ।

संयुक्त राष्ट्र मानवीय कार्यों के प्रमुख स्टीफन ओब्रायन ने कहा, सीरिया से लेकर दक्षिण सूडान तक संकट में घिरे विश्वभर के लोगों को भोजन प्राप्त के लिए हिंसा करनी पड़ती है या पनाहगाहों की तलाश करते हुए डूबने का जोखिम मोल लेना पड़ता है, जिसकी हम में से अधिकतर लोग कल्पना भी नहीं कर सकते।

उन्होंने विश्वभर के लोगों से एकजुटता दिखाने, अपनी आवाज बुलंद करने और यह मांग करने की अपील की कि विश्व के नेता ठोस कदम उठाएं।

Share With:
Rate This Article